मां से चलती कार में रेप , 3 साल की बच्ची को सड़क पर फेंका

लखनऊ : योगी राज में अपराध मुक्त उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में दिल्ली-देहरादून नेशनल हाईवे पर एक महिला से चलती कार में गैंगरेप की दहला देने वाली घटना सामने आई है. इतना ही नहीं वहशियों ने महिला के 3 साल के बच्चे को भी चलती कार से बाहर फेंक दिया. मुजफ्फरनगर के छपार थाना में केस दर्ज कर लिया गया है.

पुलिस ने बताया कि घटना सोमवार की शाम की है. पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है. पुलिस ने बताया कि आरोपी फरार हैं और उनकी तलाश की जा रही है.

कार से फेंके गए बच्चे को गांव वालों ने अस्पताल में भर्ती करवाया. डॉक्टरों ने कहा कि बच्चे की हालत खतरे से बाहर है. पीड़िता द्वारा दर्ज शिकायत में कहा गया है कि आरोपियों में से एक शख्स ने उसे नौकरी दिलाने के बहाने बुलाया था.

पीड़िता ने बताया कि आरोपियों ने उसे कोई नशीला पेय पिलाया और उसके बाद चलती कार में दो लोगों ने उसके साथ रेप किया. इससे पहले आरोपियों ने महिला के 3 साल के बच्चे को कार से बाहर फेंक दिया.

साल के शुरुआत में दिल्ली से सटे फरीदाबाद में भी एक नाबालिग के साथ चलती कार में गैंगरेप की वारदात सामने आई थी. फरीदाबाद में बल्लभगढ़-सोहना रोड पर तीन लड़कों ने एक नाबालिग लड़की को खेत से अगवा कर उसके संग चलती कार में सामूहिक बलात्कार किया. वारदात के वक्त लड़की अपनी मौसी के साथ जा रही थी.

20 जनवरी को दोपहर करीब 12.30 बजे नाबालिग पीड़िता अपनी मौसी के साथ खेत में साग काटने जा रही थी. तभी तीन लड़कों ने किशोरी को अगवा कर लिया और उसे सेंट्रो कार में डालकर ले गए. इसके बाद तीनों आरोपियों ने उसके साथ चलती कार में बलात्कार किया.

बलात्कार करने के बाद आरोपी किशोरी को रास्ते में छोड़कर फरार हो गए. किशोरी किसी तरह से अपने घर पहुंची और घटना की जानकारी अपने परिजनों को दी. परिजन फौरन पीड़ित किशोरी को लेकर थाने पहुंचे और मामले की शिकायत दर्ज कराई.