प्रियंका के राजनीति पर आने से हलचल, 3 घंटे भी चुप न रह सके मोदी

कांग्रेस पार्टी में दो नये महासचिव बने हैं दोनों को एक पूरे प्रदेश का दायित्व भी नहीं दिया गया. आधे आधे प्रदेश का प्रभार मिला है लेकिन राजनीतिक हलचल का आलम ये हैं कि पार्टियां पगला गई हैं यहां तक कि भारी भरकम नेता समझे जाने वाले पीएम नरेन्द्र मोदी भी तीन घंटे भी चुप नहीं रह सके और प्रतिक्रिया दे दी.
इशारों-इशारों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कुछ लोगों के लिए परिवार ही पार्टी है, जबकि हमारे यहां पार्टी ही परिवार है. उन्होंने कहा कि देश के कुछ अन्य राजनीतिक दल कांग्रेस गोत्र के हैं. इसलिए जब हम कांग्रेस मुक्त देश की बात करते हैं, तब हमारा विरोध उसी संस्कृति से ही है.
पीएम मोदी ने कहा कि अगर कोई पार्टी ऐसी है जो वास्तव में पूरी तरह से लोकतांत्रिक सिद्धांतों का पालन करती है तो वह बीजेपी है. उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी भारत के लोकतंत्र की सुरक्षा में हमेशा सबसे आगे रही है. आपातकाल का विरोध करने में हमारे लाखों कार्यकर्ता सबसे आगे थे. वहीं आज भी हमारे बहुत सारे कार्यकर्ता रजनीतिक हिंसा के शिकार होते हैं, लेकिन इसके बावजूद भी वे लोगों के हक की लड़ाई लड़ रहे हैं.
पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार पर हमला बोलते हुए पीएम ने कहा कि पश्चिम बंगाल में स्थानीय प्रशासन ने लोकतांत्रिक तरीकों से चुनाव नहीं कराए क्योंकि वे जानते थे कि अगर स्वतंत्र और निष्पक्ष तरीके से चुनाव हुए तो सत्ताधारी पार्टी को बुरी तरह से हार का सामना करना पड़ेगा. वे तानाशाही के रास्ते पर चलते रहें लेकिन हम लोक शाही के लिए प्रतिबद्ध हैं और हमेशा उसी रास्ते पर चलेंगे.
गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी बहन प्रियंका गांधी को बुधवार को कांग्रेस महासचिव बनाते हुए उन्हें उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल की जिम्मेदारी सौंपी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का क्षेत्र वाराणसी और गोरखपुर यूपी के इसी इलाके में हैं. ऐसे में प्रियंका गांधी को पूर्वांचल की जिम्मेदारी देकर कांग्रेस ने तुरुप का इक्का चला है.
लेकिन कांग्रेस के इस फैसले को लेकर तमाम राजनीतिक दलों खासकर बीजेपी की तरफ से तीखी प्रतिक्रिया आई है. केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि उनके लिए पार्टी परिवार का विषय है, इसलिए ऐसी नियुक्ति स्वाभाविक है. लेकिन उनको सिर्फ पूर्वांचल तक ही सीमित क्यों रखा गया? उनके कद के हिसाब से उन्हें विस्तृत भूमिका दी जानी चाहिए थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *