“2014 में पेशावर के स्कूल में कत्लेआम के पीछे भारत का हाथ” UN में पाकिस्तान का आरोप

संयुक्त राष्ट्र संघ में पाकिस्तान ने आरोप लगाय है कि साल 2014 में पेशावर में हुए स्कूली हमले में भारत का हाथ था.  इतना ही नहीं पाकिस्तान द्वारा यह आरोप भी लगाए गए कि भारत इस्लामाबाद में आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा दे रहा है. पाकिस्तान के विदेश मंत्री  शाह महमूद कुरैशी ने भारत पर यह बचकाना आरोप लगाया.

उन्होंने आतंकवाद के लिए राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) को जिम्मेदार बताते हुए कहा कि कि आतंकवाद के लिए आएसएस जिम्मेदार है और आरएसएस फासीवाद का केंद्र है.

पाकिस्तान ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर भी निशाना साधा पाक विदेशमंत्री ने कहा कि योगा अल्पसंख्यक विरोधी हैं. उन्होंने कहा कि भारत के सबसे बड़े राज्य के मुखिया योगी आदित्यनाथ का मुख्य एजेंडा हिंदूवाद है और वो अल्पसंख्यक विरोधी हैं.

इससे पहले महासभा बैठक से इतर विदेश मंत्री स्तर की वार्ता रद्द किए जाने पर कुरैशी ने कहा, ‘पाकिस्तान भारत के साथ सभी मुद्दों पर बातचीत करना चाहता था लेकिन भारत ने शांति पर राजनीति को तरजीह दी. उन्होंने कहा कि भारत ने कई महीने पहले जारी डाक टिकटों को बहाना बनाया.

कुरैशी ने कहा, ‘दक्षिण एशिया में लंबे समय से लंबित मुद्दों का समाधान करने के लिए बातचीत एकमात्र रास्ता है और इसने क्षेत्र को अपनी असली क्षमता को साकार करने से रोक रखा है.’

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज द्वारा सार्क मीटिंग में भाषण देने के बाद निकल जाने और बाद में वार्ता रद्द करने से नाराज पाकिस्तानी विदेश मंत्री कुरैशी ने कहा, ‘भारत- पाक के बीच यह मीटिंग विभिन्न मुद्दों पर बातचीत के लिए अच्छा अवसर हो सकती थी लेकिन भारत सरकार ने तीसरी बार यह मौका गंवा दिया.’

संयुक्त राष्ट्र के भारत के स्थायी मिशन की प्रथम सचिव ईनम गंभीर ने भी पाकिस्तान को करारा जवाब दिया. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की नई सरकार भी पुरानी सरकार का ही बदला हुआ रूप है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.