दारू पीने वाले चूहों ने इस बार किया और भी कीमती चीज़ पर हाथ साफ

देश के सबसे बड़े आतंकवादी तो चूहे हैं. ऐसा कोई सगा नहीं जिसे चूहों ने ठगा नहीं. अब असम के तिनसुकिया लाईपुली क्षेत्र में एक विचित्र घटना घटी. यहां के एक एटीएम के अंदर से चूहे 12.38 लाख रुपये की नकद खा गए! जी हां ये सच है. एक स्थानीय अखबार के मुताबिक हुआ यूं कि इस एटीएम में 19 मई को 29.48 लाख रुपये डाले गए थे. लेकिन अगले ही दिन यानी 20 मई से तकनीकी खराबी के कारण एटीएम का इस्तेमाल नहीं हो रहा था.

कुछ दिनों पहले बिहार में ‘शराबी चूहों’ की घटना सुन ही ली थी. 5 अप्रैल, 2016 से बिहार में शराब पूरी तरह से बंद है. अब ऐसे में अवैध तरीके से बिहार में शराब पीने और बेचने वालों से बड़ी मात्रा में शराब समय समय पर जब्त होती थी. पिछले साल बिहार नगर निगम चुनावों के समय जब विभिन्न थानों के थानेदारों से पूछा गया कि आखिर जब्त किए गए शराब की मात्रा में लगातार कमी क्यों आ रही है तो जवाब मिला था कि चूहे शराब पी गए!

इसके बाद, 11 जून को, जब इंजीनियर एटीएम बनाने आए तो उन्होंने उसमें पड़े पैसों का ये हाल देखा. अधिकांश नोट 500 और 2000 रुपये के मूल्य में थे. गिनती करने पर पता चला कि चूहों ने लगभग 29.48 लाख की कीमत के रुपए कुतर डाले थे. इस बारे में एफआईआर दर्ज कर ली गई है और मामले की जांच की जा रही है. जनता को भले एटीएम में पैसे नहीं मिल रहे हों पर चूहों ने अपने हिस्से की रकम डकार ली.

वैसे इससे भी हैरान करने वाली एक घटना के बारे में अगर बताएं तो 2013 में ब्रिटेन में चूहों ने एक कार के पुर्जे तक चबा डाले थे! कार मालिक को लगभग एक लाख का नुकसान हुआ था.

तो अब अगर किसी को चूहों की क्षमता और शक्ति पर शक हो तो इन घटनाओं को याद कर ले. समय के साथ चूहों की पसंद भी बदल रही है. वो कहावत सुनी है न, अकेला चना भाड़ नहीं फोड़ सकता. तो अब ये याद रखिए कि अकेला चूहा लाखों का चूना जरुर लगा सकता है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.