ऑरकुट के बाद गूगल को एक और असफलता, बंद कर दिया ये कारोबार

गूगल ने एक बड़ा फैसला लिया है. दरअसल उसने अपने सोशल नेटवर्क गूगल+ (गूगल प्लस) को बंद करने की सोमवार को घोषणा कर दी है. गूगल ने 5 लाख यूजर्स के डेटा हैक होने के बाद यह कदम उठाया है.

गूगल के मुताबिक, 5 लाख गूगल प्लस अकाउंट में संभावित बग पाया गया था जो उनका डेटा पब्लिक कर सकता है. गूगल ने कहा कि हालांकि इस सोशल नेटवर्किंग साइट को बंद करने से पहले उसने उस बग को ठीक कर लिया था, जिसकी वजह से करीब 5 लाख के अकाउंट में निजी डेटा में सेंध लगाई गई थी.

दी वॉल स्ट्रीट जर्नल की एक रिपोर्ट के मुताबिक गूगल ने सिक्योरिटी कारणों का हवाला देते हुए यह नहीं बताया है कि दरअसल ये बग कैसा है और क्या हुआ है?

रिपोर्ट के मुताबिक, एक सॉफ्टवेयर गड़बड़ी के कारण 2015 से 2018 के बीच बाहरी डेवलपर्स ने गूगल प्लस प्रोफाइल के डेटा में सेंध लगाई थी.

गूगल के मुताबिक, प्रभावित डेटा में ऑप्शन गूगल प्लस प्रोफाइल में दिए गए नाम, ईमेल, व्यवसाय, जेंडर और ऐज जैसे पर्सनल डेटा शामिल हैं. गूगल ने कहा है,’हमें ऐसा कोई भी प्रमाण नहीं मिला है कि डेवेलपर इस बग यानी खामी की जानकारी रखता है या फिर उन्होंने इसका गलत इस्तेमाल किया है.

गूगल के मुताबिक, गूगल प्लस को सिर्फ आम यूजर्स के लिए बंद किया जा रहा है, लेकिन एंटरप्राइज यूजर्स के लिए यह चालू रहेगा, क्योंकि कंपनियों के लिए इसे ज्यादा यूज किया जाता है.

अमेरिका की दिग्गज इंटरनेट कंपनी ने कहा कि उपभोक्ताओं के लिए गूगल+ का सूर्यास्त हो गया है. यह सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक को चुनौती देने में विफल रही थी.

गूगल के एक प्रवक्ता ने गूगल+ बंद करने की मुख्य वजह बताते हुए कहा कि गूगल+ को बनाने से लेकर प्रबंधन में काफी चुनौतियां थीं जिसे ग्राहकों के आशा के अनुरूप तैयार किया गया था लेकिन इसका कम इस्तेमाल किया जाता था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.