मोजी राज में अब अरबपतियों के आंसू निकले, पांच महीने में गंवाए 1.22 लाख करोड़

नई दिल्ली :  जिन उद्योगपतियों की तिजोरी भरने के लिए मोदी सरकार ने पूरे देश के आंसू निकाल दिए अब वही मुसीबत में पड़ गए हैं. हालात ये है कि एक जनवरी से अब तक मुकेश अंबानी, गौतम अडानी समेत भारत के शीर्ष पांच अरबपतियों को 15 अरब डॉलर (1.02 लाख करोड़ रुपये) का नुकसान हो चुका है. देश के 20 अरबपतियों को अब तक 17.85 अरब डॉलर (1.22 लाख करोड़ रुपये) की चपत लगी है.

इस अवधि में सबसे ज्यादा नुकसान अडानी ग्रुप के प्रमुख गौतम अडानी को हुआ. उनकी संपत्ति में 3.68 अरब डॉलर (25,154 करोड़ रुपये) की कमी आई है. वर्ष 2014 में जब नरेंद्र मोदी की सरकार बनी थी तो उस वक्त अडानी सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने वालों में थे. अडानी ग्रुप की चार कंपनियों के शेयर में 7 से 45 फीसद तक की गिरावट दर्ज की गई है. ‘ब्लूमबर्ग’ द्वारा जारी अरबपतियों की ताजा सूची से यह बात सामने आई है. गौतम अडानी को इस सूची में 242वां स्थान दिया गया है.

पांच शीर्ष लूजरों में सन फार्मा के प्रमुख दिलीप सांघवी का नाम दूसरे पायदान पर है. इस साल सन फार्मा के शेयर में अब तक 21 फीसद तक की गिरावट दर्ज की गई है. इससे सांघवी को कुल 3.48 अरब डॉलर (23,787 करोड़ रुपये) का आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा है. अमेरिका में कंपनी पर लगातार दबाव डाला जा रहा है. ब्लूमबर्ग के सूचकांक के अनुसार, सांघवी अरबपतियों की सूची में 153वें स्थान पर आते हैं.

विप्रो के अजीम प्रेमजी का नाम तीसरे स्थान पर है. विप्रो देश की तीसरी बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी है जो लगातार संघर्ष कर रही है. इस साल अब तक कंपनी के शेयर में 16 फीसद की गिरावट आ चुकी है. इसके चलते अजीम प्रेमजी को 3.22 अरब डॉलर (22,010 करोड़ रुपये) का नुकसान हुआ है. देश की शीर्ष चार सॉफ्टवेयर कंपनियों में विप्रो का प्रदर्शन सबसे खराब रहा है.

तेल से लेकर टेलीकॉम सेक्टर में धाक जमाने वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड को भी शेयर बाजार में उथल-पुथल का खामियाजा उठाना पड़ा है. इस साल अब तक उनकी संपत्ति में 2.83 अरब डॉलर (19,344 करोड़ रुपये) की गिरावट दर्ज की जा चुकी है. मुकेश अंबानी दुनिया के 21वें सबसे धनी (37.4 अरब डॉलर) व्यक्ति हैं. सॉफ्टवेयर कंपनी टीसीएस के बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज देश की दूसरी सबसे मूल्यवान कंपनी है. रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में 1 फीसद और मुकेश अंबानी की स्वामित्व वाली अन्य कंपनियों के शेयर में 25 प्रतिशत तक की गिरवाट हुई है.

 

अरबपतियों को सबसे ज्यादा नुकसान होने वालों की सूची में उद्योगपति कुमार मंगलम बिरला का नाम पांचवें पायदान पर है. उनके स्वामित्व वाली आठ कंपनियों के बाजार मूल्य में कुल 19.72 फीसद की कमी आई है. इन कंपनियों के शेयर में 7 से 50 फीसद तक की गिरावट दर्ज की गई है. उनकी संपत्ति में कुल 2.24 अरब डॉलर (15,311 करोड़ रुपये) की कमी आई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.