मनमोहन जैसे “शिक्षित प्रधानमंत्री” की कमी खल रही है – केजरीवाल

नई दिल्ली : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए आज कहा कि लोगों को मनमोहन सिंह जैसे ‘‘ शिक्षित प्रधानमंत्री ’’ की कमी खल रही है.
केजरीवाल हालांकि अब पूर्व प्रधानमंत्री की तारीफ कर रहे हैं लेकिन मनमोहन 2013 के दिल्ली विधानसभा चुनाव और उसके अगले साल लोकसभा चुनाव के दौरान केजरीवाल के भ्रष्टाचार विरोधी अभियान के निशाने पर रहे थे.

केजरीवाल ने गिरते रुपये पर वॉल स्ट्रीट पत्रिका का एक लेख डालते हुए ट्विटर पर लिखा , ‘‘ लोगों को डॉ मनमोहन सिंह जैसे शिक्षित प्रधानमंत्री की कमी खल रही है. लोगों को लग रहा है कि प्रधानमंत्री तो पढ़ा लिखा ही होना चाहिए. ’’ केजरीवाल और उनकी आम आदमी पार्टी (आप) के सदस्य पूर्व में भी मोदी की शैक्षणिक योग्यताओं एवं उनकी डिग्री की प्रमाणिकता पर सवाल उठा चुके हैं.

मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय राजधानी में जारी जल संकट को लेकर ‘‘ गंदी राजनीति ’’ करने का भी आरोप लगाया. उन्होंने ट्विटर पर लिखा , ‘‘ भाजपा दिल्लीवासियों के पानी के साथ गंदी राजनीति कर रही है. दिल्ली को 22 सालों से यह पानी मिल रहा था. अचानक हरियाणा की भाजपा सरकार ने इस आपूर्ति में भारी कमी कर दी. ऐसा क्यों ? कृपया अपनी गंदी राजनीति से लोगों को परेशान ना करें. ’’

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को कहा कि उपचुनाव के नतीजों से पता चलता है कि लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार से नाराज हैं और उन्हें हटाना चाहते हैं. आम आदमी पार्टी नेता ने कहा, “परिणाम से पता चलता है कि देश भर के लोग मोदी सरकार से नाराज हैं. लोग अब तक कह रहे थे कि उनके पास क्या विकल्प है. अब वे कह रहे हैं कि मोदी जी विकल्प नहीं हैं और लोग उन्हें हटाने को कह रहे हैं. भारतीय जनता पार्टी के लिए गुरुवार को आए दस राज्यों की 10 विधानसभा सीटों व चार लोकसभा सीटों के उपचुनावों के नतीजे बड़ा झटका साबित हुए हैं.