इधर जवान के शव से बर्बरता हुई और उधर पाकिस्तान से दोस्ती की तैयारी

जिस दिन बीएसएफ के जवान नरेन्द्र सिंह की बर्बर हत्या हुई और शव के साथ बर्बरता की गई उसी दिन भारत सरकार ने एलान किया है कि वो पाकिस्तान के साथ बातचीत शुरू करेगी. आपको हम यहां बता भी नहीं सकते कि जवान के शव के साथ क्या क्या हुआ. उसे कैसे तड़पाया गया और फिर हत्या कर दी गई. लेकिन एक के बदले दस सिर काट कर लाने वाली सरकार की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पाकिस्तान से दोस्ती पर बातचीत करने के लिए तैयार हो गई हैं. वो न्यूयॉर्क में बातचीत करेंगी. इससे एक दिन पहले ही भारत का पाकिस्तान से मैच था. सरकार उसी पार्टी की है जो पाकिस्तान से दोस्ती को गलत मानती रही है.

काफी देर तक इंतजार करने के बाद पाकिस्तानी रेंजर्स ने फोन पर BSF के अधिकारियों से बातचीत की और इससे वह साफ मुकर गए कि उन्होंने अपनी तरफ से BSF के पोस्ट पर किसी भी तरीके की फायरिंग की है. 5 बजे पाकिस्तान इस बात के लिए तैयार हुआ कि BSF पार्टी सीमा पार आ सकती है. हालांकि, काफी खोजबीन करने के बाद नरेंद्र सिंह की डेड बॉडी वहां मौजूद जंगली घास के बीच पाई गई.

इस बीच विदेश मंत्रियों की मुलाकात के पाकिस्तान के अनुरोध को भारत सरकार ने झटपट स्वीकार लिया . भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने इस बात की पुष्टि की है कि भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्री की न्यूयॉर्क में मुलाकात होगी.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि न्यूयॉर्क में सुषमा स्वराज और पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी की मुलाकात होगी. उन्होंने कहा कि मुलाकात का एजेंडा हालांकि अब तक तय नहीं किया गया है, लेकिन मुलाकात तय है. हालांकि, उन्होंने कहा कि अभी सिर्फ मुलाकात तय है, मुद्दा तय नहीं है. बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पीएम मोदी को चिट्ठी  लिख विदेश मंत्री स्तर की वार्ता की बात कही है.

बदले के लिए गुस्से में देश

बीएसएफ जवान से पाकिस्तान की बर्बरता से देश में गुस्सा है. आम लोगों के साथ-साथ तमाम राजनीति दल मोदी सरकार से पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर सीधा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जवाब मांगा है. केजरीवाल ने लिखा, ”प्रधानमंत्री जी जवाब दें कि आख़िर कब तक भारत के सैनिकों पर अत्याचार जारी रहेगा? कब तक भारत पाकिस्तान के सामने बेबस रहेगा? आख़िर क्या मजबूरियां हैं प्रधानमंत्री जी की?”

सिर्फ केजरीवाल ही नहीं बल्कि कांग्रेस ने भी मोदी सरकार को आड़े हाथों लिया. कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने लिखा कि मोदी जी, जवान देश की आत्मा हैं और अगर आत्मा को इस तरह तड़पाया जाएगा. सवाल है कि कब तक पाकिस्तान को ‘क्रिकेट बैट’ भेजते रहेंगे, आप जवानों के लिए कब बैटिंग करना शुरू करेंगे.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.