जम्मू कश्मीर में CRPF की गाड़ी से तीन प्रदर्शनकारी कुचले, जानें हादसे की हकीकत

श्रीनगर : श्रीनगर से कुछ तस्वीरें आई हैं जिनको लेकर बड़ा बवाल खड़ा हो गया है. तस्वीरों को लेकर तरह तरह के बयान आ रहे हैं. इन तस्वीरों में सीआरपीएफ की एक गाड़ी कुछ लोगों को रौंदती नज़र आ रह है. मामले में तीन लोग घायल हुए हैं और उनमें से एक की मौत हो गई है. घटना श्रीनगर के नौहटा इलाके की है.

इन तस्वीरों के अलग-अलग तरह के मतलब निकाले जा रहे हैं.

  1. ये लोग प्रदर्शन कर रहे थे और सीआरपीएफ की गाड़ी ने उन्हें कुचलने की कोशिश की.
  2. प्रदर्शनकारी नौजवानों ने गाड़ी को घेर लिया और बचकर निकलने की कोशिश में युवक कुचल गए और
  3. सीआरपीएफ की गाड़ी को रोकने के लिए कुछ प्रदर्शनकारी उसके नीचे घुस गए होंगे , भीड़ और हड़बड़ाहट में ड्राइवर को उनकी मौजूदगी का अंदाज़ा नहीं लगा होगा.

हालांकि, घटना क्यों और कैसे हुई, इस बात का ठीक-ठीक पता नहीं चल पाया है. घटना के जो विडियोज फुटेज सामने आई है, उनमें से एक में गाड़ी भीड़ में घिरी नजर आती है. लोग गाड़ी का रास्ता रोकते नजर आते हैं और ड्राइवर वहां से निकलने के लिए जूझते दिखता है. एक अन्य वीडियो में कुछ लोग बेहद नजदीक से गाड़ी पर पत्थर और ईंट फेंकते नजर आते हैं. ये लोग एक घायल शख्स को हटाते भी दिखते हैं. सोशल मीडिया पर गाड़ी के नीचे दबे शख्स की फोटो भी वायरल हो चुकी है.

जो भी हो इस घटना के कई मतलब हैं. खास तौर पर ये घटना मोदी सरकार के लिए धक्का है. ये घटना ऐसे वक्त में हुई है, जब कुछ दिन बाद ही गृह मंत्री राजनाथ सिंह प्रदेश के दौरे पर आने वाले हैं. इसकी वजह से कश्मीरी युवाओं तक पहुंचने और उनसे संवाद बनाने की कोशिशों को झटका लग सकता है. बता दें कि हाल ही में केंद्र सरकार ने ऐलान किया था कि रमजान के महीने में आतंकियों के खिलाफ सुरक्षाबलों की मुहिम को रोक दिया जाएगा.

उधर, इस घटना पर नैशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने सीएम मुफ्ती पर निशाना साधा है. बता दें कि सीएम की ओर से इस घटना पर अभी तक कोई बयान नहीं आया है. अब्दुल्ला ने टि्वटर पर लिखा, ‘सीजफायर का मतलब है बंदूकें नहीं, इसलिए गाड़ी का इस्तेमाल करो.’ उन्होंने मुफ्ती से सवाल पूछा कि क्या प्रदर्शनकारियों से निपटने का यही आदर्श तरीका है? उधर, जम्मू-कश्मीर पुलिस ने ट्वीट करके कहा कि एक ‘खास फोटो’ घटना की पूरी तस्वीर पेश नहीं करती. बता दें कि सोशल मीडिया पर कई तरह की तस्वीरें और वीडियो वायरल हो गए हैं. इनमें से कुछ में उत्तेजित भीड़ गाड़ी पर हमला करते दिखती है तो वहीं कुछ में एक शख्स गाड़ी के पहिए के नीचे दबा हुआ नजर आता है.