ऐसे खबरों से खेलता है मीडिया, निर्वस्त्र व्यक्ति की एक खबर के ये दो पहलू देखिए

नई दिल्ली : पुलिस सभ्यता से असभ्यता की ओर कैसे बढ़ रही है ये जानना है तो ये दिल्ली का उदाहरण देखिए. देश की राजधानी में दूर दराज आदिवासी इलाकों की तरह पुलिस ने एक शख्स को घर से गिरफ्तार किया . उसे निर्वस्त्र करके सड़कों पर परेड करवाई गई. इस मामले में पुलिस ने पहले क्या किया और फिर गोदी मीडिया के ज़रिए उसे कैसी शक्ल दे दी गई ये इस खबर में आप पढ़ेंगे.

पहले आई ये खबर

इन्द्रपुरी थाना क्षेत्र में एक आरोपी को गिरफ्तार करने पहुंची दिल्ली पुलिस का अमानवीय चेहरा सामने आया है. राष्ट्रीय राजधानी में पुलिस द्वारा शर्मनाक घटना को अंजाम दिया गया है. पुलिस की टीम एक आरोपी को गिरफ्तार करने उसके घर पहुंची थी. जिस वक्त पुलिस ने दबिश दी आरोपी बाथरूम में था.

पुलिस ने आरोपी को बाथरूम से नग्न अवस्था में पकड़ा और उसे कपड़े तक पहनने का वक्त नहीं दिया. पुलिस टीम आरोपी को उसी अवस्था में घर से बाहर ले आई. इतना ही नहीं पुलिस ने थाने तक आरोपी की ‘न्यूड परेड’ करा दी. इस पूरे मामले को आरोपी के वकील ने कोर्ट में उठाया है और साथ ही साथ इसकी शिकायत उच्च अधिकारियों और एलजी अनिल बैजल से भी की है.

दरअसल, दिल्ली के इंद्रपुरी इलाके में स्थित जेजे कॉलोनी के एक घर में पुलिस की टीम आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए दबिश देने पहुंची थी. जिस वक्त पुलिस घर में पहुंची आरोपी बाथरूम में नहा रहा था. घरवालों का आरोप है कि पुलिस ने उसे बाथरूम से पकड़ने के बाद कपड़े पहनने तक का मौका तक नहीं दिया. पुलिसकर्मी उसे नग्न अवस्था में ही घर से बाहर लेकर आ गए. जिसके बाद सरेराह सैकड़ों लोगों के सामने उसकी ‘न्यूड परेड’ कराई गई.

गौरतलब है कि आरोपी के खिलाफ ट्रेस पासिंग के एक मामले में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट से गैर जमानती वारंट जारी हुआ था. दिल्ली पुलिस उसी वारंट की तामील करने उसके घर पहुंची थी. घरवालों के मुताबिक घर के बगल से ही एक गली थाने के नजदीक है, लेकिन जानबूझकर पुलिस टीम उसे लंबे रास्ते थाने तक ले गई.

दिल्ली पुलिस की यह हरकत सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हो गई है. सीसीटीवी फुटेज में साफ नजर आ रहा है कि जिस वक्त आरोपी की ‘न्यूड परेड’ कराई गई उस वक्त पुलिसकर्मियों के अलावा वहां महिला पुलिसकर्मी भी मौजूद थीं. यही नहीं सड़क पर सैकड़ों लोगों के साथ-साथ बच्चे और महिलाएं भी दिल्ली पुलिस का ये तमाशा देख रहे थे.

घटना की सबसे खास बात यह थी कि जब आरोपी की ‘न्यूड परेड’ कराई जा रही थी उस वक्त उसकी पत्नी एक तौलिया लेकर पुलिसकर्मियों के पीछे दौड़ती नजर आ रही है. पत्नी का आरोप है कि उसने पुलिस से गुहार भी लगाई कि उसके पति को तौलिया पहना दिया जाए पर पुलिस टीम ने उसकी नहीं सुनी.

आरोपी के वकील ने इस ‘न्यूड परेड’ का मामला कोर्ट में उठाया है इसके साथ ही दिल्ली पुलिस के आला अधिकारियों और एलजी अनिल बैजल से भी मामले की शिकायत करते हुए आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है.

ये वो खबर है जो पुलिस की कहानी के आधार पर बनाई गई

नई दिल्ली : दिल्ली में एक कुख्यात बदमाश अपने तौलिये के कारण पुलिस के फंदे में फंस गया. जी हां, यहां वेस्ट दिल्ली पुलिस एक कुख्यात बदमाश को पकड़ने गई थी. पुलिस की सूचना मिलते ही बदमाश दूसरी मंजिल से नीचे कूदने की कोशिश करने लगा. पुलिस ने उसे मना किया लेकिन वह कूद पड़ा और नीचे गिरते ही उसका तौलिया खुल गया. दिलचस्प यह कि बदमाश ने उस वक्त तौलिये के अलावा और कुछ नहीं पहना हुआ था. ऐसे में पुलिस ने उसे धर दबोचा.

मामला वेस्ट दिल्ली के इंद्रपुरी थाना इलाके का है. डीसीपी विजय कुमार ने बताया कि गिरफ्तार बदमाश का नाम वीरेंद्र उर्फ कालू (30) है. यह इंद्रपुरी झुग्गियों में रहता है. इसके खिलाफ लूट के 31 मामले दर्ज हैं. इलाके का घोषित अपराधी है. इसे गिरफ्तार करने के लिए छह महीने पहले गैर जमानती वॉरंट तक जारी हुआ है, लेकिन यह पकड़ में नहीं आ पा रहा था.

17 मई को पुलिस को सूचना मिली थी कि बदमाश अपने घर पर है. इंद्रपुरी थाने की पुलिस टीम इसे पकड़ने गई. पुलिस के मुताबिक बदमाश घर में केवल तौलिया लपेटकर लेटा हुआ था. पुलिस के आने भनक लगते ही यह घर की दूसरी मंजिल पर चढ़ गया. यहां से इसने नीचे कूदने की कोशिश की. पुलिस टीम ने इसे ऐसा करने से काफी मना किया और कहा कि चोट लग सकती है. यह दूसरी मंजिल से नीचे कूद गया. इस दौरान इसका तौलिया खुल गया.

शरीर पर और कपड़े ना होने की वजह से लोगों ने समझा कि पुलिस ने इसके कपड़े उतार दिए. किसी ने इसका विडियो भी बना लिया था. इस विडियो में दिख रहा है कि पुलिस उसे अंडरवेयर देने का प्रयास कर रही थी, लेकिन वह भागने की कोशिश में था. पुलिस जिप्सी तक वह बिना कपड़ों के ही गया, फिर उसे कपड़े पहनाए गए.