पाक सीमा के नज़दीक अमेरिका ने गिराया इतिहास सबसे बड़ा बम, 20 भारतीय भी मरे

वाशिंगटन: अमेरिका ने पाकिस्तान की सीमा के नज़दीक अपना सबसे ताकतवर गैर परमाणु बम गिराया है. उसका दावा है कि पूर्वी अफगानिस्तान में शरण लिए इस्लामिक स्टेट आतंकियों के ठिकानों पर यह विशाल GBU-43 बम गिराया है. पेंटागन के प्रवक्ता ने बताया कि पहली बार इस बम का प्रयोग किया गया है और इसे MC-130 एयरक्राफ्ट से गिराया गया.अमेरिका के इतिहास में पहली बार इतना बड़ा बम गिराया गया है.
यह बम नानगरहार प्रांत के अचिन जिले में एक सुरंगनुमा इमारत (टनल कॉम्पलैक्स) पर गिरी. अफगानिस्तान में अमेरिकी सुरक्षा बलों ने एक बयान में यह जानकारी दी. यह हमला स्थानीय समय के अनुसार शाम 7:32 (1502 जीएमटी) बजे हुआ. अफगानिस्तान के जिस इलाके में यह बम गिराया, वह पाकिस्तान सीमा के नजदीक है.
अफगानिस्तान में अमेरिकी बम हमले में 20 भारतीयों के मारे जाने की आशंका है. जब बृहस्पतिवार शाम को अमेरिका ने अफगानिस्तान के नंगारहर प्रांत में यह बम गिराया, तो उस समय ये भारतीय वहां मौजूद थे. इसमें बच्चे और महिलाएं भी शामिल हैं. हालांकि इनके मारे जाने की अभी तक पुष्टि नहीं हुई है.
इससे पहले अफगानिस्तान में ड्रोन हमले में एक भारतीय हफिसुद्दीन मारा जा चुका है. हाल ही में केरल के 21 लोग लापता हो गए थे. बताया जा रहा है कि ये सभी अफगानिस्तान भाग गए और वहां खूंखार आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) में शामिल हो गए. लापता युवक अशफाक ने हफिसुदीन के परिजनों को संदेश भेजकर उसके मारे जाने की जानकारी दी थी.
हफिसुदीन के रिश्तेदार बीसीए रहमान को उसकी मौत का संदेश सोशल मीडिया एप के जरिए मिला था. अशफाक ने रहमान को यह भी बताया था कि हफिसुदीन को दफना दिया गया है. जब अशफाक से पूछा गया कि इसके अलावा और कोई भी मारा गया है, तो उसने कहा कि फिलहाल वह इसकी जानकारी जुटा रहा है.
जुलाई में केरल के मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन ने विधानसभा में बताया था कि केरल के 20 लोग भारत छोड़कर अफगानिस्तान चले गए हैं और वहां आईएस में शामिल हो गए हैं. उन्होंने बताया था कि इन 21 लोगों में बच्चे भी शामिल हैं. इनमें से 17 कारसगोड जिले और बाकी पलक्काड जिले के रहने वाले हैं.

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें