भारत की मानसी छिल्लर बनी मिस वर्ल्ड, पीरियड्स से लेकर मां तक जानिए मानसी का हर विचार

भारत की मानसी छिल्लर बनी मिस वर्ल्ड, पीरियड्स से लेकर मां तक जानिए मानसी का हर विचार

पेइचिंग: चीन के सनाया में आयोजित की गई मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता में भारत की मिस इंडिया मानुषी छिल्लर को मिस वर्ल्ड 2017 घोषित किया गया. इस प्रतियोगिता में दुनियाभर की 118 सुंदरियों ने हिस्सा लिया था जिसमें मानुषी ने सभी को पीछे छोड़ते हुए मिस वर्ल्ड का खिताब जीता. मिस वर्ल्ड मानुषी हरियाणा के सोनीपत के शहर की रहने वाली हैं. लेकिन लंबे समय से दिल्ली में हैं.

इस प्रतियोगिता में दूसरे नंबर पर मिस मेक्सिको रहीं जबकि तीसरे नंबर पर मिस इंग्लैंड रहीं है. मिस इंडिया मानुषी छिल्लर से फाइनल राउंड में जूरी ने सवाल पूछा था कि किस प्रफेशन में सबसे ज्यादा सैलरी मिलनी चाहिए और क्यों? इसके जवाब में मानुषी ने कहा, ‘मां को सबसे ज्यादा सम्मान मिलना चाहिए. इसके लिए उन्हें कैश में पीरियड्स पर दिया था ये जवाब – सैलरी नहीं बल्कि सम्मान और प्यार मिलना चाहिए.’ 

पीरियड्स को लेकर ये कहा था

दैनिक भास्कर के मुताबिक उनके एक रिपोर्टर से बातचीत करते समय मानसी ने बेहद इंटेलीजेंट उत्तर दिया थ. उन्होंने कहा था कि  मेरा मानना है कि लोगों में पीरियड्स को लेकर बहुत भ्रम है. पीरियड्स का ब्लड देख कर लोगों के दिमाग में कोई न कोई डिजीज आ जाता है. मैं बस यही कहना चाहती हूं कि अगर आपको किसी भी चीज का साइंटिफिक रीजन पता है, तो ठीक है और अगर नहीं पता तो भ्रम में जीने की जरुरत नहीं.

मानुषी छिल्लर से पहले साल 2000 में बॉलिवुड और हॉलिवुड की सफल ऐक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा भारत की तरफ से मिस वर्ल्ड बनीं थी. 20 साल की मानुषी छिल्लर 67वीं मिस वर्ल्ड हैं. वह मेडिकल की स्टूडेंट हैं और कार्डिएक सर्जन बनना चाहती हैं. मानुषी को पैराग्लाइडिंग, बंजी जंपिंग और स्कूबा डाइविंग जैसे स्पोर्ट्स पसंद हैं. इसके अलावा मानुषी ट्रेंड इंडियन क्लासिकल डांसर हैं और स्केचिंग और पेंटिंग भी बनाती हैं.

कॉलेज में जश्न

मानसी ने मिस वर्ल्ड की तैयारी अपनी मेडिकल की तैयारी बीच में छोड़कर की थी. शनिवार की शाम जैसे ही मानुषी छिल्लर ने मिस व‌र्ल्ड का खिताब जीता, उसी के साथ गांव खानपुर कलां स्थित बीपीएस महिला मेडिकल कॉलेज की छात्राएं, शिक्षक व अधिकारी जश्न में डूब गए. मानुषी इसी कॉलेज में एमबीबीएस की द्वितीय वर्ष की छात्रा है. कॉलेज में उसकी सहपाठी, अन्य छात्राओं व शिक्षकों ने एक दूसरे को मिठाई खिलाकर बधाई दी. पूरे कॉलेज में उत्सव का माहौल बना हुआ है. मेडिकल कॉलेज के साथ मानुषी के ननिहाल गांव जागसी के लोगों ने भी खुशी मनाई.

मिस इंडिया बनने के बाद 3 जुलाई, 2017 को मानुषी अपने कॉलेज पहुंची थीं. तब सहपाठियों, कॉलेज के अधिकारियों व स्टाफ सदस्यों ने मानुषी व उसके माता-पिता का जोरदार स्वागत किया था. अब मानुषी मिस व‌र्ल्ड बन चुकी है. सहपाठियों ने कहा कि यह बड़ी उपलब्धि है. मानुषी जब भी कॉलेज आएंगी, उनका जोरदार स्वागत होगा.

कौन हैं मानुषी छ‍िल्लर..

-मूलरूप से हरियाणा के झज्जर ज‍िले की रहने वाली मानुषी (20) ने दिल्ली के सेंट थॉमस स्कूल से पढ़ाई कम्पलीट की हैं. जून 2017 में इन्होंने फेमिना मिस इंडिया का खिताब जीता था. सोनीपत के बीपीएस मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस सेकंड ईयर की स्टूडेंट हैं.

– इनके पिता मित्रवासु और मां नीलम छिल्लर दोनों डॉक्टर हैं. फिलहाल, फैमिली दिल्ली में रहती हैं. इन्हें फैशन, डांस, ग्लैमर में इंटरेस्ट है.

– मिस वर्ल्ड (2017), फेमिना मिस इंडिया (2017) के अलावा मानुषी ने मिस फोटोजेनिक का अवॉर्ड भी जीता है. वे मिस हरियाणा भी रह चुकी हैं.