नोटबंदी से बढ़ेंगी मोदी की मुसीबतें, राहुल गांधी शुरू करेंगे देशव्यापी अभियान, साथ होंगे मनमोहन

नई दिल्ली: नोट बंदी पर पहले ही बैकफुट पर आई मोदी सरकार को अब सबसे बड़ा हमला झेलना पड़ेगा. आज से कांग्रेस पार्टी मोदी सरकार के खिलाफ अभियान शुरू करने जा रही है. अभियान की अगुआई राहुल गांधी करेंगे. नोटबंदी के मामले पर राहुल गांधी लगातार मोदी सरकार पर तगड़े हमले बोलते रहे हैं. आज का उनका भाषण इस मामले में बेहद अहम हो सकता है. दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी बुधवार को जन वेदना सम्मेलन से इस अभियान की नयी शुरुआत हो रही है. सम्मेलन में राहुल गांधी के साथ पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस के अन्य नेता शामिल होंगे.
जन वेदना सम्मेलन में पांच हजार से अधिक प्रतिनिधियों के हिस्सा लेने की उम्मीद है. सूत्रों की मानें तो इस दौरान देश भर से आए कांग्रेस के 5000 डेलीगेट्स को बुकलेट बांटी जाएगी. जिसमें मोदी सरकार के 2.5 साल के कार्यकाल की विफलताएं भी होंगी और केंद्र में नोटबंदी को रखा जाएगा.
इस दौरान बताने की कोशिश होगी कि किस तरीके से मोदी सरकार ने विदेशों से कालाधन लाकर 15 लाख रुपये देने का वायदा किया जो झूठा निकला. अब नोटबंदी के जरिए देश की जनता को मुश्किल में डाल दिया.
नोटबंदी का कांग्रेस लगातार विरोध कर रही है. इस सम्मेलन में भी नोटबंदी के मुद्दे को देश भर में जनता के सामने रखने की कोशिश करेगी और पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में इसको मुद्दा बनाएगी.
इस जन वेदना सम्मेलन में राहुल गांधी आरंभिक भाषण देंगे और तमाम वरिष्ठ नेताओं के भाषणों के बाद आखिर में तकरीबन 4:00 बजे समापन भाषण भी देंगे. सूत्र बताते हैं कि सोनिया गांधी इसमें मौजूद नहीं रहेंगी. कुल मिलाकर सदेश साफ है कि, राहुल गांधी ही हर मौके पर कांग्रेस के भविष्य होंगे.

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें