Xiaomi ला रहा है सबसे सस्ता फोन Redmi Go, ये क्रांति है या कचरा

Xiaomi, शाओमी, श्याओमी, शियोमी कहें का ज़ियाओमी. इस कंपनी का सबसे सस्ता फोन जल्द ही भारत के बाज़ार में धमाका मचाने वाला है. पहले ही भारत में इस चीनी कंपनी ने धूम मचा रखी है बहिस्कार मंडली के सारे हंगामों के बावजूद ये कंपनी लगातार आगे बढ़ रही है

शियोमी अपने इस स्मार्टफोन को 19 मार्च को दिल्ली में आयोजित एक इवेंट में लॉन्च करेगा, जिसमें 1GB रैम (RAM) और 8GB इंटरनल स्टोरेज और स्नैपड्रैगन 425 प्रोसेसर है.

यह फोन शियोमी का पहला Android Go स्मार्टफोन है, जिसे ऐंड्रॉयड ऑरियो का लाइट वर्जन माना जाता है. फोन में लगे कैमरे की बात करें तो इसके बैक पैनल पर 8 मेगापिक्सल का रियर कैमरा और 5 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा है.

नेटवर्क 18 के मुताबिक अगर शियोमी अपने इस स्मार्टफोन 19 मार्च को लॉन्च करता है तो यह रेडमी लाइनअप का सबसे सस्ता स्मार्टफोन माना जाएगा. हालांकि, फोन के बारे में अभी ज्यादा कुछ जानकारी सामने नहीं आई है.

कुछ एक्सपर्ट का कहना है कि ये श्याओमी की नयी चाल भी हो सकती है. कहीं ये न हो कि कंपनी भारत में अपना इलेक्ट्रॉनिक कचरा खपा रही हो. दरअसल इतने कमज़ोर कनफिगरेशन के फोन पूरी दुनिया में बाज़ार से बाहर हो चुके हैं. अगर इन फोन्स को कचरे में किसी देश को भेजा जाता है तो रिसायकिलिंग की कीमत भी देनी पड़ती है. इसलिए कंपनी सस्ते दाम में भारत में ये माल खपाने की तैयारी में है. पर्यावरण का खतरा अलग से होता है

इससे पहले भारत में फ्रीडम 251 नाम से 251 रुपये का एक मोबाइल भी खपाने की कोशिश हुई थी. कुछ कंपनियां टैबलेट तो कुछ आउट डेटेड कन्फिगरेशन के कंप्यूटर भी लुभावनी मार्केटिंग से भारत के बाज़ार में खपा चुकी हैं. तीसरी दुनिया के देश कंपनियों के लिए आसान टारगेट बन चुके हैं सस्ते दाम में कूड़ा बेचकर वो अपना कूड़ा भी खपा देते हैं और पैसे भी बना लेते है. लोग लंबे स्मय तक इन फोन्स का इस्तेमाल भी नहीं कर सकते

अगर श्याओमी के 1 जीबी के फोन को लें तो आज के ऐप्स काफी रिसोर्स खाते हैं. एक जीबी रैम इस लिहाज से काफी कम होगी. लोग इसे खरीद तो लेंगे और कुछ समय बाद ये कचरा बन जाएगा. जाहिर बात है ये फोन कूड़े में ही जाएंगे लेकिन इसकी कीमत कंपनी को नहीं देनी होगी.

Leave a Reply