बाबा रामदेव बनाम एलोपैथी, झगड़े की जड़ में क्या है? WHAT IS BEHIND RAMDEV AND ALOPATHY CONTROVERSY?

girijesh vashisht

आप अमेजॉन पर हमारी इस शॉप से सामान खरीदकर हमारी आर्थिक मदद कर सकते हैं. आपको सामान उसी दाम में मिलेगा. लेकिन हमें एक हिस्सा मिल जाएगा… www.amazon.in/shop/influencer-1c25a18a सुश्रुत 800 ईसा पूर्व पैदा हुए 700 ईसापूर्व निधन हुआ सर्जन फिजीशियन सुश्रुत प्लास्टिक सर्जरी के पितामह शतपथ ब्रह्मण में इसा जिक्र मिलता है चार प्रकार से जलता है आदमी, फ्रॉस्ट बाइट, लू लगना, बिजली गिरना सर्जरी पहले निर्जीव चीज़ों पर सीखने पर जोर दिया जैसे तरबूज, घड़े और कुशा पर शिक्षकों और सीखने वालों के लिए बाकायदा आचार संहिता बनाई आंखों के रोगों का वर्गीकरण किया 76 तरह की आंख की बीमारिया बताईे उनके सिम्पटम उनके संकेत, वो कैसे बढ़ती है, उनके चरण क्या होते हैं मोतियाबिद का ऑपरेशन शराब का ऑपरेशन का दर्द कम करने में पहली बार इस्तेमाल किया छह तरह के डिस लोकेशन बारह तरह के फ्रैक्चर और उनका असर मनुष्य पर क्या पड़ता है आज हम हल्लाबोल करेंगे कोरोना संकट में सबसे बडे़ विवाद पर. विवाद की शुरुआत की योगगुरु रामदेव ने, जब उन्होंने ये कह दिया कि एलोपैथी स्टुपिड और दिवालिया साइंस है और एलोपैथी दवाओं से लाखों लोगों की जान चली गई. रामदेव के बयान पर डॉक्टर आगबबूला हो गए. उन्होंने सरकार को चिट्ठी लिखी और फिर स्वास्थ्य मंत्री ने रामदेव को चिट्ठी लिखी. फिर योगगुरु ने अपना बयान वापस ले लिया. #BabaRamdev#AllopathyvsAyurveda#KnockingNews#HindiNews#AajTak#aajtaklivetv#aajtakhindi#girijesh#vashistha#today_breaking_news#aajtak सुश्रुत आग से उपकरणों को गरम करते थे. उन्हें डिसइनफेक्ट करके सर्चरी करते थे रीनो प्लास्टी के जनक. नाक को ऐसे सही आकार देना कि वो सुंदर लगे और सांस लेने में भी आसानी हो उन्होंने अनगिनत सर्जीकल के उपकरण बनाए जो खास एक प्रकार की सर्जरी में काम आते थे उनकी पुस्तकों को अरबी भाषा में अनुवाद हुआ बगदाद के शाह के मंत्री ने खुद इसे सीखने का आदेश दिया अंग्रेजो के दौर में 1907 में उनके काम का अनुवाद किया गया फ्रेंक मकॉोवल ने उनकी सर्जरी पर पुस्तक लिखी. द सोर्स ऑफ प्लास्टिक सरजरी पुस्तक का नाम था चरक 300 ईसा पूर्व पैदा हुए 200 ईसा पूर्व निधन हुआ विद्वान और बेहतरीन फिजीशियन बीमारी और सेहत का पहले से अनुमान नहीं लगाया जा सकता. मनुष्य के जीवन को लंबा और स्वस्थ किया जा सकता है अगर अगर जीवन शैली यानी लाइफस्टाइल पर ध्यान दिया जा सके चरक सिखाते थे कि प्रिवेंशन इस बेटर देन क्योर, जीवन शैली के छह ऋतुओ के अनुरूप होना चाहिए “जो चिकित्सक अपने ज्ञान के प्रकाश से मरीज के अंदर जाकर नहीं देक सकता वो कभी एक मरीज का इलाज नहीं कर सकता” उसे पहले सभी तथ्यों को समझना पड़ेगा. उसमें व्यक्ति का वातावरण जो उसके रोग पर प्रभाव डालता है. सबसे ज्यादा रोग को आन से रोकना चाहिए इलाज करने से पहले बेहतर है पाचन, मेटाबोलिजम, और इम्युनिटी जैसे कनसेप्ट सबसे पहले चरक लेकर आए ते त्रिदोष , वात पित्त और कफ के जरिये शरीर के फंक्शन को समझना और उसके जरिए इलाज करना . ये चरक ने सबसे पहले खोजा था शरीर में जर्मस यानी वायरस बैक्टीरिया होने की बात चरक जानते थे लेकिन उन्होंने अपने इलाज में इनको ज्यादा अहमियत नहीं दी वो बेहद अध्ययनशील थे शरीर में 360 हड्डियां होती है दिल शऱीर का कंट्रोलिंग सेन्ट्र होता है शरीर तेरह नाडियों से पूरे शरीर से जुड़ा होता है इसके अलावा अनगिनत नाडि़य़ां होती है जो उनसे तेरह मुख्य नाड़ियों से जुड़ी होती है जिनके जरिए पोषक तत्व शरीर को पहुंचते हैं शरीर का वेस्ट भी नाड़ियों के जरिए ही निकाला जाता है उन्होने उस समय लिखा कि इन नाड़ियों में अड़चन आ जाती है तो उससे बीमारी होती है और शरीर में डिफॉर्मिटी आ जाती है About Girijesh Vashistha of Knocking News (नॉकिंग न्यूज़): Girijesh Vashistha is a senior journalist; he has worked with India Today group, Zee Network, Dainik Bhaskar, Dainik Jagran and sahara samay like Prominent News organizations for 34 years at Editor Level गिरिजेश वशिष्ठ वरिष्ठ पत्रकार हैं. वो इन्डिया टुडे ग्रुप, दिल्ली आजतक, ज़ी, दैनिक भास्कर, दैनिक जागरण, सहारा समय समेत अनेक महत्वपूर्ण समाचार संस्थानों में संपादक के स्तर पर जिम्मेदारियां संभाल चुके हैं और पिछले 34 साल से लगातार सक्रिय हैं. यहां आपको मिलेगा Girijesh Vashistha Video from नॉकिंग न्यूज़ (Knocking News) For more videos, subscribe to our channel: https://www.youtube.com/c/KNOCKINGNEWS Check out the KnockingNews website for more news: https://www.KnockingNews.com/ To stay updated, Follow KnockingNews here: Facebook: https://www.facebook.com/KnockingNews/ Twitter: https://twitter.com/KnockingNews Instagram: https://www.instagram.com/KnockingNews/… Telegram: https://t.me/KNLiveSHOW LESS

1 Comment

  1. Hmare pm ko sirf apne mn ki bat kahni ati hae kishan ke mn ki bat v janta ke mn ki bat sunni nahi ati jbki hmne hi unko vanha take bheja abhi unko yanha Lane ka