Vaccine trial Exposed, जब ऐसे ट्रायल होंगे तो कैसे भरोसा करें

आप यहां से सामान खरीदकर हमारी आर्थिक मदद कर सकते हैं. आपको सामान उसी दाम में मिलेगा. लेकिन हमें एक हिस्सा मिल जाएगा… www.amazon.in/shop/influencer-1c25a18a

आज आपको हिंदुस्तान में वैक्सीन की ट्रायल की कहानी सुनाते हैं.
पहले सिस्टम क्य है
एक एथिक्सकमेटी बनती है
सात से पन्द्रह सदस्य होने चाहिए
चिकित्सा वैज्ञानिक मेडिकल साइंटिस्ट
28216 लोगों पर ट्रायल का दावा किया गया
बीस जनवरी को ये ट्रायल पूरा हुआ
हालांकि द वायर ने इस ट्रायल को मान्यता देने से इनकार कर दाय.
इनमें आम लोग ले पर्सन
एक महिला
एक लीगल एक्सपर्ट
एक सामाजिक क्षेत्र का आदमी जिसमें एनजीओ से लेकर समाज विज्ञानी कोई भी हो सकताहै
इसमें आधे लोग ट्रायल करने वाली संस्था के नहीं होने चाहिए.
अब बात करेंगे इसके पॉलिटिकल कनेक्शन की लेकिन पहले दिखाते हैं इस ट्रायल की हकीकत
17 फरवरी को नोएडा में नारी रक्षा दल भारत माता का फोटो देश का नक्शा और फ्री ट्रायल वाले लोग पकड़े जाते हैं
गोपाल पैथोलॉजी लैब फ्री कोरोना वैक्सीन लैब ऐसी पांच लैबोरेटरी भारत भर में पकडी जाती है
ग्रेटर नोए डा के दादरी में ये कैंप लगाय या
ऐसे ही कई फेक और फर्जी केंप लगाकर दवा का ट्रायल किया गया.
सीएमओ ने कहा कि इस लैब के पास टीका लगाने का अधिकार ही नहीं था
एक बार फिर से लौटते है कि कैसे दवा की टेस्टिंग के पैरामीटर होने चाहिए.
क्या आपने खबर पढ़ी कि एस कंपनी पोर कोई एक्शन हुआ हो
क्या आपने खबर पढ़ी कि इस कंपनी की ट्रायल पर कोई असर पड़ा हो

पॉलिटिकर बैकग्राउंड पर आते हैं
2014 के चुनाव में कैडिला जायडस ने जमकर राजैतिक चंदा दिया
गुजरात के टॉप पॉलिटिकल डोनर्स में से थी ये संस्था एडीआर की रिपोर्ट थी जिसमें बीजेपी ने तो अपने चंदे का हिसाब ही नहीं दिया था
कांग्रेस ओर एनसीपी की यहां से कुळ एक करोड़ का चंदा मिला था . बाकी अंदाजा आप खुद लगाएं
इस कंपनी के अधिकारी पार्टी से नजदीकी के कारण चर्चा में आते रहे हं जब रेमडेसिविर की किल्लत थी तो नवसारी के बीचेपी दफ्तर में कंपनी से मोटी संख्या में इंजेक्शन पहां दिया गया था

About Girijesh Vashistha of Knocking News (नॉकिंग न्यूज़):
Girijesh Vashistha is a senior journalist; he has worked with India Today group, Zee Network, Dainik Bhaskar, Dainik Jagran and sahara samay like Prominent News organizations for 34 years at Editor Level

गिरिजेश वशिष्ठ वरिष्ठ पत्रकार हैं. वो इन्डिया टुडे ग्रुप, दिल्ली आजतक, ज़ी, दैनिक भास्कर, दैनिक जागरण, सहारा समय समेत अनेक महत्वपूर्ण समाचार संस्थानों में संपादक के स्तर पर जिम्मेदारियां संभाल चुके हैं और पिछले 34 साल से लगातार सक्रिय हैं.