इसलिए बीजेपी छोड़कर कांग्रेस के सदस्य बन गए उदित राज

नॉर्थ-वेस्ट  दिल्ली  लोकसभा क्षेत्र से बीजेपी के मौजूदा सांसद उचित राज ने बीजेपी छोड़कर कांग्रेस की सदस्यता ले ली है. उदित राज ने राहुल गांधी की मौजूदकी में कांग्रेस की सदस्यता ली. सोमवार सुबह उदित राज ने कांग्रेस मुख्यालय में अध्यक्ष राहुल गांधी की उपस्थिति में कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली. कल उदित राज ने कहा था कि राहुल गांधी उनसे कई बार कह चुके थे कि वो गलत पार्टी में हैं.

कल कुछ मीडिया हाऊस कह रहे थे कि उदित राज का गुस्सा शांत हो गया है और अब वो बीजेपी में ही रहेंगे . उदित राज ने अपने ट्विटर अकाउंट पर दोबारा नाम के आगे चौकीदार जोड़ लिया था.

यहां पर बता दें कि भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर पश्चिम दिल्ली लोकसभा सीट से वर्तमान सांसद उदित राज का टिकट काटकर अन्य भाजपा नेता और सूफी गायक हंस राज हंस को टिकट दे दिया. इससे आहत उदित राज ने अपने ट्विटर हैंडल से अपने नाम से चौकीदार शब्द हटा दिया था, लेकिन बाद में फिर से जोड़ लिया. वहीं, इससे पहले उन्होंने भाजपा नेतृत्व से यह सवाल भी पूछा था कि उनका टिकट किस आधार पर काटा गया है? यह बात सामने आनी चाहिए.

इस बाबत उन्होंने मंगलवार को मीडिया के सामने अपनी पीड़ा भी जाहिर की थी कि वह नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आंख मूंदकर विश्वास करते हुए अपनी ‘इंडियन जस्टिस पार्टी’ का भाजपा में विलय कर दिया था, जबकि अपना दल जैसे छोटी पार्टी उनकी तुलना में ज्यादा फायदे में रहीं. उन्होंने कहा था कि उन्हें भाजपा का दलित चेहरा बताया जाता था.

वह दलितों के हक में आवाज बुलंद करते रहे हैं. एसी, एसटी एक्ट और रोस्टर प्वाइंट को लेकर दलितों के भारत बंद का भी समर्थन किया था. सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश का भी समर्थन किया था. पार्टी को बताना चाहिए कि दलितों व महिलाओं के हक में आवाज उठाने की सजा तो उन्हें नहीं दी गई.