क्या ओबामा की तरह टल जाएगी ट्रंप की यात्रा, सुरक्षा में ये पेंच फंसा

आगरा : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत के दौरै पर आने वाले हैं. उनकी यात्रा में मुगलों के बसाए अहमदाबाद दिल्ली और आगरा भी शामिल हैं लेकिन आखिरी वक्त में एक पेंच फंस गया है जिससे हो सकता है कि ट्रंप की आगरा यात्रा को टालना पड़े. दर असल ट्रंप अपनी यात्रा के बीच आगरा जाएंगे. सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइंस हैं कि कोई भई तरल इंधऱ वाला वाहन ताज महल के 500 मीटर के दायरे में नहीं चलाया जा सकता.

ट्रंप अमेरिकी राष्ट्रपति की अति सुरक्षित बीस्ट गाड़ी से ही यात्रा करते हैं. ये कार गैसोलीन यानी पेट्रोल से चलतीहै. ट्रंप के सुरक्षा अधिकारी इस गाड़ी के बगैर ट्रंप को ताज नहीं जाने देंगे और सुरक्षा करणों से उन्हें पूर्वी गेट से बैटरी चालित गोल्फ-कार्ट से जाने नहीं देंगे.

इससे पहले 2015 में तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भारत दौरे के दौरान ताजमहल देखने की योजना बनाई थी. हालांकि यूएस सीक्रेट सर्विस ने बैटरी से चलने वाली गाड़ी से ताजमहल तक जाने के विकल्प को सुरक्षा कारणों से मंजूरी नहीं दी थी. ऐसे में ओबामा को आखिरी मिनटों में अपना आगरा दौरा रद्द करना पड़ा था.

यूपी सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, अमेरिकी राष्ट्रपति 24 फरवरी को अहमदाबाद में रहेंगे. ऐसे में 25 फरवरी के उनके आगरा आने की संभावना है. हालांकि हमें 24 फरवरी की शाम के लिए भी तैयार रहने को कहा गया है और उनके अहमदाबाद से सीधे आगरा आने की बात कही गई है.

दो दशक पहले बिल क्लिंटन आए थे भारत

उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप के दौरे को लेकर अभी एक निश्चित कार्यक्रम नहीं बना है. एक अमेरिकी टीम सुरक्षा व्यवस्था और दूसरी चीजों पर चर्चा करने के लिए आगरा आ रही है. ताजमहल जाने वाले आखिरी अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन थे, जो करीब दो दशक पहले वहां गए थे. ऐसी भी अटकलें हैं कि ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप भी ताजमहल दौरे के दौरान उनके साथ रह सकती हैं.

इस हाई प्रोफाइल दौरे से जुड़ी व्यवस्था देखने के लिए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस हफ्ते आगरा आने की उम्मीद है. अधिकारियों ने बताया कि लखनऊ से इस दौरे को एक भव्य उत्सव में बनाने का निर्देश है. इसके तहत अमेरिकी राष्ट्रपति और उनकी पत्नी के स्वागत में आगरा एयरपोर्ट से लेकर ताजमहल तक सड़क के दोनों ओर सैंकड़ों स्कूली छात्रों और लोगों के खड़े होने की उम्मीद है.

अमेरिकी राष्‍ट्रपति की सुरक्षा में अमेरिकी वायुसेना के सात विमान होंगे. साथ ही वाहनों का एक काफिला चलेगा. इसमें अत्‍याधुनिक हथियारों से लैस अमेरिकी सेना के जवान होंगे. सूत्रों ने बताया कि चार कारगो विमान अमेरिकी राष्‍ट्रपति के भारत आने से पहले पहुंच जाएंगे. जबकि एक पैसेंजर और दो कार्गो विमान सहित तीन विमान ट्रंप के विमान के साथ पहुंचेंगे.