जब ट्रंप ने लीक कर दिया मोदी का सीक्रेट प्लान

देश में मंदी है लेकिन ऐश की कोई कमी नहीं. दोस्तों पर देश का पैसा ऐसे लुटाया जा रहा है. 200 करोड़ से ज्यादा की कार में चलने वाले मोदी के महंगे शौकों का एक और उदाहरण है ट्रंप की यात्रा के लिए गुपचुप तरीके से देश के सैकड़ों करोड़ लुटाने की तैय़ारी.


कल पत्रकारों के सामने अमेरिकी राष्ट्रपति ने पीएम मोदी के सेक्रेट प्लान को भी लीक कर दिया उन्होंने बताया कि ट्रंप की भारत यात्रा के दौरान किस तरह पानी की तरह पैसा बहाने की तैयारी है. हुए कहा, “एयरपोर्ट टू स्टेडियम लाखों लोग मेरा स्वागत करेंगे.” .


व्हाइट हाउस द्वारा ट्रंप की भारत यात्रा की तारीखों की घोषणा के एक दिन बाद राष्ट्रपति ने अपने ओवल कार्यालय में संवाददाताओं से बात की. भारत यात्रा से जुड़े एक प्रश्न पर ट्रंप ने संवाददाताओं से कहा,‘‘ अभी प्रधानमंत्री मोदी से बात की. ’’ उन्होंने मोदी के साथ हुई अपनी बातचीत का जिक्र करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री ने स्पष्ट रूप से उन्हें बताया है कि अहमदाबाद में उनके स्वागत के लिए लाखों लोग मौजूद होंगे.


ट्रंप के मुताबिक “उन्होंने (मोदी) ने बताय है कि वो लाखों की संख्या में लोगों का इंतजाम कर रहे हैं. मेरी समस्या केवल यह है कि उस रात वहां 40 अथवा 50 हजार लोग थे…मैं इससे बहुत खुश नहीं होने वाला…वहां हवाई अड्डे से नए स्टेडियम (अहमदाबाद में)तक 50 से 70 लाख होंगे.’’ उन्होंने कहा, “वह (मोदी) बहुत भद्र पुरुष हैं और मैं भारत जाने को उत्सुक हूं. हम इस माह अंत में जाएंगे.”


ट्रंप ने मजाकिया लहजे में संवाददाताओं से कहा कि अमेरिका में आमतौर पर जितने लोगों को वह संबोधित करते हैं उन्हें अब उसकी ‘ज्यादा खुशी नहीं’ नहीं होगी. वहां संबोधन के दौरान 40 से 50 हजार के बीच लोग होते हैं.


ट्रंप प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आमंत्रण पर 24 और 25 फरवरी को भारत आ रहे हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति गुजरात के अहमदाबाद भी जाएंगे और वहां एक स्ट्रेडियम में मोदी के साथ एक जनसभा को संबोधित करेंगे


ट्रंप ने कहा,‘‘ आपको पता है कि वह दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम है. वह (मोदी) इसका निर्माण करा रहे हैं. यह लगभग तैयार है और दुनिया में सबसे बड़ा है.’’ दोनों नेताओं का अहमदाबाद में नवनिर्मित मोटेरा स्टेडियम में संयुक्त संबोधन का कार्यक्रम है. एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने संकेत दिए कि वह भारत के साथ व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर करने के इच्छुक हैं. उन्होंने कहा,‘‘ वे (भारतीय) कुछ करना चाहते हैं और हम देखेंगे…अगर हम कोई सही समझौता कर सके तो उसे करेंगे.’’

वहीं अमेरिका में भारत के नवनियुक्त राजदूत तरनजीत सिंह संधू ने ‘भाषा’ से कहा कि ट्रंप की होने वाली यात्रा ट्रंप और मोदी के बीच ‘‘ मजबूत व्यक्तिगत घनिष्ठता को दर्शाती है.’’ संधू ने कहा,‘‘ यह संबंधों को नई ऊंचाईयों पर ले जाने की उनकी मजबूत इच्छाशक्ति को भी दर्शाता है.’’
गौरतलब है कि पिछले तीन वर्षों में मोदी और ट्रंप के बीच मित्रवत संबंध रहे हैं 2019 में दोनों ने चार बार मुलाकात की थी. इसके अलावा इस वर्ष अब तक दोनों दो बार फोन पर बातचीत कर चुके हैं.