कर्नाटक में इन तेरह चेहरों के भरोसे है अमित शाह, जानिए क्यों ?

नई दिल्ली : कर्नाटक विधानसभा में आज शक्ति परीक्षण का दिन है. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक आज शाम चार बजे तक येदियुरप्पा सरकार को अपना बहुमत साबित करना है. सबके मन में सवाल है कि वो कौन से विधायक हो सकते हैं जिनपर अमित शाह की नजर होगी.  पत्रकार अनुराग उपाध्याय ने इन सभी विधायकों की लिस्ट और कारण बताए हैं. हम यहां आपके साथ साझा कर रहे हैं..

आनंद सिंह – ये होसपेट से विधायक है, ये लम्बे समय तक बीजेपी में ही रहे है, 2 महीने पहले ही बीजेपी छोड़ कांग्रेस में शामिल हो गए थे चूँकि बीजेपी ने टिकेट नहीं दिया था.

नागेंदा – ये बेल्लारी ग्रामीण से कांग्रेस के विधायक है, ये भी बीजेपी में थे, और रेड्डी बंधुओं के करीबी है, आनंद सिंह के साथ ही 2 महीने पहले इन्होने कांग्रेस ज्वाइन किया था.

जे ऐन गणेश – ये कम्पली से कांग्रेस के विधायक है, ये रेड्डी बंधुओं के करीबी है.

प्रताप गौड़ा पाटिल – ये मसकी से विधायक है, ये 2008 तक बीजेपी में ही थे, अभी कांग्रेस के विधायक चुने गए है, बीजेपी नेताओं से करीबी संबंध है.

शिवानन्द पाटिल – बगेवेदी से कांग्रेस विधायक है, जब चुनाव नहीं हुए थे तब इन्होने बीजेपी की तारीफ की थी और बीजेपी में शामिल होने की कोशिश भी की थी, मोदी के प्रशंसक रहे है.

MY पाटिल – अफ्ज़लपुर से कांग्रेस के विधायक है, ये बीजेपी में ही थे, ये कांग्रेस में सिर्फ इस बात से शामिल हो गए थे क्यूंकि बीजेपी ने कांग्रेस से आये नेता को टिकेट दे दिया था.

नागागौदा कनाद्कौर – ये जेडीएस के विधायक है, पिछले साल 2017 में इन्होने बीजेपी ज्वाइन करने की कोशिश की थी, ये भी मोदी के प्रशंसक है.

वेंकातारामान्नापा – ये पवागादा से कांग्रेस के विधायक है, जब येदियुरप्पा की सरकार कर्णाटक में बनी थी तो ये उस सरकार में शामिल थे, येदियुरप्पा से अच्छे संबंध है.

पी पुत्तारंगाशेत्टी – ये चमराज्गानर से विधायक है, ये बीजेपी के वरिष्ट नेता एश्वाराप्पा के कई दशको तक सहयोगी रहे है.

के एस लिंगेश – ये जेडीएस के एकमात्र लिंगायत विधायक है, ये येदियुरप्पा के करीबी रहे है, येदियुरप्पा के लोगों से इनके पारिवारिक रिश्ते भी है.

शिवराम हेब्बल – ये एक ब्राह्मण विधायक है और उडुपी मठ से इनके संबंध है, जिसपर योगी आदित्यनाथ का ख़ासा प्रभाव है, बीजेपी से इनके पुराने रिश्ते रहे है.

राजशेखर पाटिल – ये व्यापारी हैं, इनके आरएसएस और बीजेपी दोनों के व्यापारिक संगठनो से संबंध है, कांग्रेस के विधायक है.

देवेन्द्र चौहान – नाग्थान से जेडीएस के विधायक है, इनके येदियुरप्पा से पुराने संबंध रहे है, और ये भी एक व्यापारी हैं, जो की राजशेखर पाटिल की तरह ही बीजेपी और आरएसएस के व्यापारिक संगठनो से जुड़े हुए है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.