तस्लीमा नसरीन को याद आ रहे होंगे केजरीवाल, नहीं सुन रही दिल्ली पुलिस

दिल्ली में आम आदमी पार्टी लगातार पूर्ण राज्य का दर्जा मांग रही है. उसका कहना है कि दिल्ली पुलिस बेलगाम है और उसे जनता के हित में तभी लगाया जा सकता है जब कि वो जनता के चुने हुए लोगों के लिए जवाब देह हो.

हालात ये है कि संघ परिवार की फेवरिट बांग्लादेशी महिला लेखक तस्लीमा नसरीन दिल्ली पुलिस की बेरुखी के कारण दरबदर है, पुलिस उनकी सुनवाई ही नहीं कर रही. हारकर तस्लीमा ने एक ट्वीट किया है.

लेखिका ने ट्वीट किया है- ‘एक माह पहले किसी ने वसंत विहार स्थित मेरे फ्लैट पर जबरदस्ती कब्जा कर लिया. वसंत विहार पश्चिमी मार्ग स्थित फ्लैट में मैं 2008 से रह रही थी. शिकायत के बावजूद पुलिस ने कुछ नहीं किया, जबकि वे मुझे पहचान भी गए. क्या आपको पता है कि आम लोगों के साथ क्या होता होगा.’

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा है- ‘एफआइआर के एक माह बाद भी पुलिस ने कुछ नहीं किया. मुझे सरकार पर पूरा भरोसा है. उम्मीद है कि वह मदद करेगी. उन्होंने पीएमओ, गृहमंत्री और पुलिस कमिश्नर को भी ट्वीट टैग किया. एक अखबार ने इस बारे में पुलिस का पक्ष लेने के लिए डीसीपी को फोन किया गया, लेकिन उन्होंने कॉल रिसीव नहीं की.’

इन ट्वीट के अलावा कोई जानकारी इस मामले में नहीं मिल पा रही है. एक सवाल ये है कि तस्लीमा ने ये संपत्ति खरीद कैसे ली. विदेशी नागरिक तो भारत में ज़मीन नहीं खरीद सकते. अगर खरीदी तो क्या उन्हें सत्ता का समर्थन मिला हुआ था.

Leave a Reply