कैराना की सांसद का झूठा बयान वायरल करने वालों के खिलाफ केस

लखनऊ: कैराना की नवनिर्वाचित सांसद तबस्सुम हसन की शिकायत पर अब एक मैसेज की जांच होगी. ये मैसेज वाट्सएप पर फैलाया जा रहाहै जिसमें कैराना से जीतीं सांसद तबस्सुम हसन के हवाले से कहा जा रहा था कि उन्होंने अपनी जीत को हिंदुओं पर मुसलमानों की जीत बताया है. शामली के पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा ने बताया कि हसन ने शिकायत दर्ज कराकर सांप्रदायिक तनाव उत्पन्न करने वालों और सौहार्द बिगाड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है. आपको याद होगा कि हाल में एक कानून बनाया गया था जिसके तहत फर्जी मैसेज प्रसारित होने के मामले में ग्रुप एडमिन की जिम्मेदारी तय की गई थी

उन्होंने बताया कि यूपी पुलिस की साइबर सेल मामले की जांच करेगी और फर्जी संदेश पोस्ट करने वाले के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा.  हसन (48) ने मंगलवार को कैराना संसदीय सीट पर जीत दर्ज की थी. उन्होंने भाजपा की मृगांका सिंह को 44,618 मतों के अंतर से हराया था. इस तरह वह 16वीं लोकसभा के लिए उत्तर प्रदेश से पहला मुस्लिम चेहरा बन गईं. उनके जीतते ही बीजेपी समर्थकों ने एक पोस्ट वायरल की जिसमें कहा गया था कि तबस्सुम हसन ने अपनी जीत को हिंदुओं की हार बताया है. ये बात भी बेहद भड़काऊ तरीके से कही गई थी.

ये वो संदेश है जो तेज़ी से बीजेपी समर्थकों ने शेयर किया

बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव में कैराना संसदीय सीट से बीजेपी के हुकुम सिंह ने जीत दर्ज की थी. इसी साल 3 फरवरी को उनका निधन हो जाने के चलते वहां पर उपचुनाव हुए. 2014 के लोकसभा चुनाव में करीब 72 फीसदी वोटिंग हुई थी, जिसमें से बीजेपी को 5 लाख 65 हजार 909 वोट मिले जबकि सपा को 3 लाख 29 हजार 81 वोट. बसपा को तब 1 लाख 60 हजार 414 वोट मिले थे.