मोदी के हैलीकॉप्टर से उतरा एक रहस्यमय काला बक्सा, कांग्रेस ने चुनाव आयोग से कहा जांच कराओ

कांग्रेस ने पीएम मोदी की कर्नाटक में चित्रदुर्ग रैली के दौरान उनके हेलिकॉप्टर से उतारे गए काले बक्से की जांच कराने की मांग की है. कांग्रेस के प्रवक्ता आनंद शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री को स्थिति साफ करनी चाहिए और चुनाव आयोग को इसकी जांच करनी चाहिए. कर्नाटक कांग्रेस ने इस बारे में चुनाव आयोग से शिकायत की है.

9 अप्रैल को पीएम मोदी ने कर्नाटक के चित्रदुर्ग में एक रैली को संबोधित किया था. आनंद शर्मा ने इस बारे में कहा – ‘’हमने देखा कि पीएम मोदी के हेलिकॉप्टर के साथ तीन और हेलिकॉप्टर थे. जब हेलिकॉप्टर लैंड हुए तो उनमें से एक से एक काला बक्सा उतारा गया और फिर उसे एक निजी कार में रख दिया गया. ये कार एसपीजी सुरक्षा वाली कारों का हिस्सा नहीं थी. आखिर में उस बक्से में क्या था? अगर उसमें कैश नहीं थी, तो जांच होने दीजिए.” कांग्रेस ने इस संबंध में एक वीडियो भी जारी किया है और दिखाया है कि किस तरह से हेलिकॉप्टर से बक्सा उतारा गया.

इस मौके पर आनंद शर्मा ने कहा कि पीएम मोदी में असल मुद्दों का सामने करने की हिम्मत नहीं है इसलिए वो गैरजरूरी मुद्दों को हवा दे रहे हैं. आनंद शर्मा ने पूछा कि मोदी राफेल सौदे में अपनी भूमिका को लेकर चुप क्यों हैं? पिछले साल फ्रांस के राष्ट्रपति के साथ हुई बैठक में क्या हुआ था, ये जनता को क्यों नहीं बताते? चुनाव जीतने की हताशा में पीएम मोदी ने सेना को चुनावी अखाड़े में उतार दिया है. वोट के लिए सेना के शौर्य का इस्तेमाल करना, सेना का अपमान है और इस अपराध के लिए उन्हें माफ नहीं किया जा सकता.

आनंद शर्मा ने केंद्रीय मंत्री वीके सिंह से इंदिरा गांधी पर उनके बयान के लिए माफी की मांग की है. बीजेपी पर सेना के राजनीतिकरण के आरोपों पर वीके सिंह ने कहा था कि 1971 के युद्ध से इंदिरा गांधी को चुनावी फायदा हुआ था. आनंद शर्मा ने कहा ‘1971 में इंदिरा को बड़ी चुनावी जीत मार्च में मिली थी जबकि युद्ध हुआ दिसंबर में. ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ करने के लिए वीके सिंह को माफी मांगनी चाहिए’