मोदी से मिलकर 100 करोड़ देगा ये सुपर टेलेंटेड शख्स, दिमाग कंप्यूटर से भी तेज़

पीएमओ को शहीदों के लिए 100 करोड़ का दान देने ले मुर्तजा अली एक आम बड़े दिल के धनी आदमी नहीं हैं बल्कि एक ऐसे शख्स का नाम है जो हर मामले में जीनियस है. कोटा के मुर्तजा अली ने शनिवार को शहीदों के परिवार वालों के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में 100 करोड़ देने का एलान किया था.

इसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री कार्यालय में ई-मेल कर भारत के प्रधानमंत्री से मिलने का समय मांगा है. जिसके जवाब में प्रधानमंत्री कार्यालय से उन्हें जवाब मिला है कि दो-तीन दिनों के भीतर प्रधानमंत्री मोदी उन्हें मिलने का समय दे देंगे

जन्म से नेत्रहीन मुर्तजा अली कोटा के रहने वाला विलक्षण व्यक्ति है और वह जन्म से ही नेत्रहीन हैं. उनकी पढा़ई कोटा के कॉमर्स कॉलेज से हुई है. उन्होंने वहां से स्नातक की पढ़ाई की उनका परिवारिक व्यापार ऑटोमोबाइल का था. नेत्रहीन होने के कारण उसमें नुकसान हो रहा था.

ऐसे में उन्होंने मोबाइल और डिश टीवी के क्षेत्र में काम शुरू किया. वर्ष 2010 में वे किसी काम से जयपुर गए. वहां एक पेट्रोल पंप पर तेल ले रहे थे. वहां पर एक व्यक्ति के मोबाइल पर फोन आया.

उस व्यक्ति ने फोन रिसीव किया और आग लग गई. इसका कारण जानने के लिए उन्होंने स्टडी शुरू की. इस तरह उन्होंने फ्यूल बर्न रेडियेशन टेक्नोलॉजी का इजाद किया. इस टेक्नोलॉजी के जरिए जीपीएस, कैमरा या अन्य किसी उपकरण के बगैर ही किसी भी वाहन को ट्रेस किया जा सकता है.

बता दें कि मुर्तजा अली बर्न रेडिएशन टेक्नोलॉजी के जरिए जीपीएस, कैमरा या अन्य किसी उपकरण के बगैर ही किसी भी वाहन को ढूंढ निकालने की तकनीक का आविष्कार कर चुके हैं. इस समय मुर्तजा अली, मुंबई में बतौर वैज्ञानिक काम कर रहे हैं. एक कंपनी के साथ करार से उनको अच्छी रकम मिली है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *