JNU के छात्रों ने इस सीक्रेट से हासिल कीं IES की 32 में से 18 सीटें

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU)  के छात्रों ने आंदोलन करते हुए भी यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (UPSC) के इंडियन इकोनॉमिक्स सर्विसेज (IES) परीक्षा 2019 में 32 में से 18 छात्रों को जबरदस्त सफलता मिली है भारतीय वित्त सेवा नाम की इस सेवा में सफलता इस दौरान मिली है कि जब एक ओर में 5 जनवरी को हुई हिंसा के बाद तनाव का माहौल चल रहा था. वहीं इसी बीच UPSC ने IES परीक्षा के परिणाम जारी किए. बता दें, इस परीक्षा में जेएनयू के 18 छात्रों ने सफलता हासिल की है.

दरअसल जिस माहौल को लोग पढ़ाई का दुश्मन मानते हैं वही जेएनयू की सफलता का सीक्रेट है. यहां छात्र जितना भी पढ़ते हैं उस पर दिन रात बहस करते हैं. दुनिया भर के मामलों पर उनके पास इतना ज्ञान हो जाता है जो क्लासरूम की पढ़ाई से कभी मिल ही नहीं सकता. यहां के छात्र जब भी जहां भी इंटरव्यू या एक्जाम देने जाते हैं तुरंत सही जवाब उनहें पता होता है.

इंडियन इकोनॉमिक्स सर्विसेज (IES) में ऑल इंडिया लेवल पर इसमें सिर्फ 32 सीटें होती हैं और अकेले जेएनयू कैंपस के छात्रों ने 32 में से 18 सीटों पर बाजी मारी है. इस परिणाम के आते ही ये साफ हो गया है कि जेएनयू छात्रों पढ़ने का माहौल देता है और यहां का शिक्षा स्तर काफी बेेहतर है.

हाल में हुई हिंसा के बाद एक बार फिर जेएनयू को लेकर अलग-अलग बहस जारी हैं. सत्ताधारी दल से जुड़े राइट विंग राजनेता लगातार जेएनयू पर टुकड़े-टुकड़े गैंग का आरोप लगाते हैं, जबकि लेफ्ट विंग से जुड़े नेता और छात्र नेता जेएनयू को बेस्ट यूनिवर्सिटी बताकर मौजूदा सरकार पर उसे बर्बाद करने का आरोप लगाते रहते हैं.