आम्रपाली मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला, NBCC बनाएगी फ्लैट्स

आम्रपाली बायर्स के लिए राहत की खबर है. सुप्रीम कोर्ट  ने कहा है कि आम्रपाली(amrapali) के रुके हुए प्रॉजेक्ट अब नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कॉर्पोरेशन यानी एनबीसीसी (NBCC) पूरा करेगा. सुप्रीम कोर्ट ने 10 मई को इस मामले में फैसला सुरक्षित रख लिया था. आम्रपाली के हजारों बायर्स की इस फैसले पर नजर थी. इतना ही नहीं सरकार ने कहा है कि जिन भी कंपनियों ने सरकार से ज़मीन लेकर प्रोजेक्ट लटकाए हैं. सब पर एक्शन हो.

पिछली सुनवाई में आम्रपाली बायर्स की ओर से सुप्रीम कोर्ट में उनका पक्ष रखने वाले सीनियर वकील एमएल लाहोटी ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान साफ कर दिया था कि आम्रपाली अब प्रॉजेक्ट से बाहर होगी और सुप्रीम कोर्ट तय करेगा कि प्रॉजेक्ट का काम किसे सौंपा जाए. .

अदालत ने अपने फैसले में ये खास बातें कही हैं. ..

– मामवे में सीरियस फ्रॉड हुआ है.

– बड़ी रकम इधर से उधर की गई.

– विदेशी मुद्रा नियमन कानून यानी फेमा का उल्लंघन किया गया.

– विदेशों में भी धन भेजा गया.

– मामले में कंपनी का सीए मित्तल भी जिम्मेदार.

– नोएडा ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी भी लापरवाही की ज़िम्मेदार क्योंकि निगरानी नहीं की.

– लीज डीड की गंभीर अवहेलना लिहाज़ा लीज कैंसिल की जाती है.

– घर खरीदारों से जमा रकम की हेराफेरी की .

मामले की फोरेंसिक ऑडिट में भी कई खुलासे हुए हैं.

– फोरेंसिक ऑडिट में भी घर खरीदारों की खून पसीने की कमाई में फ्रॉड की पुष्टि.

– रेरा के तहत आम्रपाली का रजिस्ट्रेशन कैंसिल.

– NBCC घर बनाकर खरीदारों को देगी.

– NBCC को 8% कमीशन मिलेगा.

– FEMA के तहत भी ज़िम्मेदार लोगों के खिलाफ  कार्रवाई होगी।.

आपको याद होगा  कि आम्रपाली ग्रुप के खिलाफ कड़ी टिप्पणी करते हुए कोर्ट ने कहा था कि आपने आसमान की ऊंचाई तक लोगों को चीट किया है. आपने बायर्स, बैंक और अथॉरिटी सबको चीट किया है. आपलोगों ने गंभीर फ्रॉड किया है. जो भी पावरफुल लोग आपलोगों के पीछे खड़े हैं हम किसी को नहीं छोड़ेंगे सबके खिलाफ क्रिमिनल केस चलेगा. अथॉरिटी और बैंकर्स ने भी लोगों का विश्वास तोड़ने का काम किया इस कारण बायर्स ने सफर किया है. .

.

गौरतलब है कि आम्रपाली के हजारों बायर्स द्वारा फ्लैट के लिए रकम देने के बावजूद उन्हें फ्लैट नहीं मिला है. सालों से ये बायर्स फ्लैट के लिए चक्कर लगा रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट ने सख्त रुख अपनाया और आम्रपाली के डायरेक्टर की संपत्तियों को कुर्क करने का आदेश दिया. फिलहाल आम्रपाली के सीएमडी समेत अन्य जेल में बंद हैं.