सहारा टीवी में गईं बड़े बड़ों की नौकरिया, जानिए किसके साथ क्या हुआ

सहारा मीडिया में ये उठापटक का दौर है. सीईओ और एडिटर इन चीफ उपेंद्र राय ने धड़ा धड़ कई लोगों के खिलाफ एक्शन शुरू कर दिए हैं. लगातार जांच हो रही है और कई लोग लपेटे में आ रहे हैं. बड़े बड़े लोग नप रहे हैं . खबर है कि कंपनी के चीफ फाइनेंसियल आफिसर (सीएफओ) महेश चंद्र लोहानी को नौकरी से निकाल दिया गया है. उन्हें सीधे एचआर डिपार्टमेंट ने एक पत्र आया जिसमें सेवाएं तत्काल प्रभाव से खत्म करने का जिक्र था.

इसी तरह टेक्निकल हेड (इंजीनियरिंग एंड आपरेशंस) संजय घोष को भी नौकरी से निकाला गया है. उन्हें भी तत्काल प्रभाव से कार्यमुक्त कर दिया गया है. इजीनियरिंग एंड आपरेशंस के डिप्टी हेड अरविंद कुमार भी हटाए गए हैं. इन्हें एक महीने की नोटिस पीरियड की सेलरी देकर रुखसत कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें :  श्रीदेवी को मरकर ही मिला चैन, राम गोपाल वर्मा की फैन्स के लिए चिट्ठी

इससे पहले सहारा मीडिया के चीफ ऑपरेटिंग अफसर गौतम सरकार पर भी गाज गिराई गई थी. उन्हें लखनऊ में एचआर विभाग से अटैच कर दिया गया. गौतम सरकार के तबादले के साथ-साथ ब्राडकास्ट इंजीनियरिंग के तीन लोगों को बर्खास्त किया गया था. इन पर आरोप लगाया गया था कि ये सब मिल जुल कर नुकसान पहुंचा रहे हैं.

इन कार्रवाइयों को मैनेजमेंट संस्था विरोधी बता रहा है लेकिन वजह उपेन्द्र राय का अपना एक्शन माना जा रह है.

ये भी पढ़ें :  ट्राई के चेयरमैन ने आधार ट्वीट करके कहा कुछ बिगाड़कर दिखाओ, इसके बाद जो हुआ ...

बताया जा रहा है कि पिछले दिनों कुछ घंटों के लिए सहारा मीडिया के न्यूज चैनलों का प्रसारण रुकवा दिया गया था. इसके चलते चैनल रिकार्डेड मोड के प्रोग्राम चलाने को मजबूर हुए. साथ ही चैनल के आडियो भी म्यूट हो गए थे. इस बात की जब गहराई से जांच कराई गई तो माना गया कि अंदरूनी राजनीति के तहत जानबूझकर प्रसारण से छेड़छाड़ की गई. आपको बता दें कि ऑडिट बंद होने पर टीआरपी रेटिंग्स में चैनल रजिस्टर होना बंद हो जाता है.