संघ के पूर्व प्रवक्ता ने कहा, बीजेपी को बहुमत मिलना मुश्किल

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए पांच चरणों का मतदान संपन्न हो चुका है. अब सिर्फ दो ही चरणों के मतदान बाकी हैं. लेकिन, इस बीच बीजेपी के कद्दावर नेता और जनरल सेक्रेटरी राम माधव ने एक ऐसा बयान दिया है, जिससे पार्टी के प्रमुख चेहरे नरेंद्र मोदी और अमित शाह के पूर्ण बहुमत के दावे पर सवालिया निशान लग रहे हैं.

ब्लूमबर्ग को दिए इंटरव्यू में राम माधव ने कहा है कि इस लोकसभा चुनाव में बीजेपी बहुमत से पीछे रह सकती है. उन्होंने कहा है, “अगर हम अपने दम पर 271 सीटें हासिल कर लेते हैं तो यह हमारे लिए खुशी की बात होगी.” इंटरव्यू में राम माधव ने एनडीए को पूर्ण बहुमत मिलने का भरोसा जरूर दिलाया.

राम माधव ने कहा कि उत्तर भारत में 2014 लोकसभा चुनाव के दौरान भारी समर्थन हासिल करने वाली बीजेपी को इस बार नुकसान तय है. लेकिन, इसकी भरपाई पश्चिम बंगाल, ओडिशा और उत्तर-पूर्व के राज्यों से होगी. माधव ने कहा कि अगर बीजेपी की सरकार दोबारा सत्ता में आती है, तो वह आर्थिक सुधार की दिशा में चल रहे कार्यों को और गति देगी.

विदेश नीति के मसले पर राम माधव ने कहा कि पीएम मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच अच्छे संबंध ने हमारी विदेश नीति को काफी बल दिए हैं. वहीं, चीन के सीपेक (बेल्ड एंड रोड परियोजना) परियोजना पर बीजेपी नेता ने कहा कि जब तक संप्रभुता का मुद्दा हल नहीं होता, तब तक किसी भी तरह का समझौता मुमकिन नहीं है.

उन्होंने कहा कि चीन ने इस परियोजना एकतरफा तौर पर शुरू किया है. गौरतलब है कि चीन एक व्यापारिक कॉरिडोर का निर्माण कर रहा है और पाकिस्तान में बेल्ट रूट का काम भी चल रहा है. भारत की परेशानी यह है कि इसमें पाकिस्तान के अलावा पाक अधिकृत कश्मीर का भी हिस्सा इसमें शामिल किया गया है. इस परियोजना पर 60 बिलियन डॉलर का निवेश किया जा रहा है.