राहुल गांधी ने किया दूध का दूध पानी का पानी, कश्मीर पर पर्दाफाश ज़रूरी था

नई दिल्ली :  हो सकता है कि बीजेपी को राहुल गांधी का जवाब बुरा लगे. हो सकता है कि बीजेपी के लोग राहुल गाधी को सोशल मीडिया पर घेरने की कोशिश करें लेकिन राहुल ने जो कहा वो आज की हकीकत है. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अमरनाथ यात्रा के दौरान हुए आतंकी हमले को लेकर कहा कि पीएम मोदी की नीतियों ने कश्मीर में आतंकियों के लिए जगह बनाई, जिससे देश का काफी नुकसान हुआ है.

ये भी पढ़ें :  मुस्लिम लड़कियों की शादी में जाएगा 51000 का लिफाफा, मोदी सरकार देगी शगुन

राहुल ने लिखा कि थोड़े समय के राजनीतिक फायदे के लिए पीएम मोदी ने पीडीपी से गठबंधन किया, जो देश की सुरक्षा पर भारी पड़ा. उन्होंने लिखा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पर्सनल फायदे के कारण देश को रणनीतिक नुकसान हुआ और निर्दोष लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी.

राहुल गांधी की बात को अगर समझा जाए तो संदेश साफ है कि बीजेपी ने कश्मीर में दमन की नीति अपना कर दिल्ली के नेतृत्व के लिए कश्मीर के लोगों के दिलों में विश्वास कम किया. इससे आतंकवादी और भारत विरोधी शक्तियां कश्मीरियों को ये समझाने में कामयाब हो गईं कि भारत की सरकार उनकी कभी भी सगी नही हो सकती. इसी का नतीजा है कि पाकिस्तान समर्थक लोग कश्मीर मे फिर से जगह पाने लगे.

ये भी पढ़ें :  रेलवे के अफसर ने झुठलाया मोदी का दावा, कहा- कानपुर रेल हादसे के पीछे पाकिस्तान नहीं

राहुल के बयान से एक चीज़ और साफ निकलकर आती है कि शेष भारत में सांप्रदायिक ध्रुवीकरण और हिंदू मुसलमान के तनाव को बढ़ाने के लिए मोदी सरकार कश्मीर की बलि दे रही है. वहां का माहौल खराब करके बीजेपी मुसलमानों को टारगेट करती है जिसका वो राजनीतिक फायदा उठाती है.

ये भी पढ़ें :  मोदी ने 60 महीने मांगे थे, 40 महीने में क्या किया, आजतक ने किया विश्लेषण

वैसे राहुल गांधी के इस बयान की आड क हालात में बहुत ज़रूरत थी. कम से उनके बयान आने से काफी हद तक लोगों में जागरूकता आएगी.

Spread the love