PUBG की लत में बच्चे ने पिता के 50 हज़ार चुराए, ऐसे चला पता

अगर आप अपने फोन पर PUBG गेम खेलते हैं तो सावधान होने की जरूरत है. इस गेम की लत आपके लिए बेहद खतरनाक हो सकती है. यह गेम आपको मानसिक रूप से बीमार करने के साथ अन्य तरीकों से भी परेशान कर सकता है. लोगों में इस गेम को खेलने की आदत इतनी बढ़ गई है कि वे मोबाइल फोन पर वीडियो देखने से ज्यादा गेम खेलने में अपना समय बिता रहे हैं.

ताज़ा मामला पंजाब के जालंधर का है यहां 15 साल के एक लड़के ने पबजी कंट्रोलर, कस्टमाइज़ स्किन और कॉस्ट्यूम खरीदने के लिए अपने पिता के बैंक अकाउंट से 50 हज़ार रुपये निकाल लिए. लड़के के पिता ने 20 जनवरी को शिकायत दर्ज कराई तब यह मामला सामने आया. उन्होंने अपनी शिकायत में बताया कि पैसे निकलने पर उनके पास कोई ओटीपी नहीं आया और न ही ट्रांजैक्शन का कोई एसएमएस आया. पुलिस ने मामला दर्ज करके छानबीन शुरू की तो पता चला कि उनके अकाउंट से पैसे एक पेटीएम अकाउंट में ट्रांसफर किए गए हैं.

आईबी टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, जब लोकल पुलिस ने पेटिएम ऑफिशियल से पूछताछ की तो खरीदारी करने वाले का फोन नंबर और घर का पता सामने आ गया, जिससे ट्रैक कर लिया गया कि ये उसके 10वीं क्लास में पढ़ने वाले बेटे ने किया है.

पुलिस की पूछताछ में लड़के ने कुबूल लिया कि उसने अपने पिता के अकाउंट से देर रात ट्रांसैक्शन की और फोन से OTP लेने के बाद उसे डिलीट कर दिया ताकि सुबह उठने पर उसके पिता को पता ना चले. इसके बाद उसने इन पैसों को अपने दोस्त के पेटिएम अकाउंट में ट्रांसफर कर दिया और फिर उससे पबजी का सामान खरीदा. हालांकि बेटे के ही पैसे निकालने का पता चलने पर पिता ने शिकायत वापस ले ली.

हाल ही में एक और मामला सामने आया. भोपाल का एक युवक पबजी गेम खेलने में इतना तल्‍लीन हो गया कि उसने पानी की जगह एसिड पी लिया. बाद में डॉक्‍टरों ने उसे बचा लिया. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक युवक मूल रूप से छिंदवाड़ा का रहने वाला था. बताया जाता है कि युवक अपने घर के आंगन में पबजी गेम खेल रहा था. गेम खेलने के दौरान उसने पानी मांगा. उसे जब किसी ने पानी नहीं दिया तो वह गेम खेलते हुए ही पानी पीने चल दिया. युवक गेम खेलने में इतना मशगूल था कि उसने पानी की जगह एसिड पी लिया.

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने भी गेम खेलने की लत को एक मानसिक बीमारी बताया है. बेंगलुरु के वेल्लोर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी ने भी हाल ही में वहां के छात्रों में इस गेम की लत को देखते हुए हॉस्टल में PUBG खेलने पर बैन लगा दिया है. जैसे-जैसे गेम की लत बढ़ रही है वैसे ही मरीजों की संख्या में भी बढ़ोत्तरी हो रही है. इस गेम के अलावा डेटा-1, फोर्टनाइट, काउंटर स्ट्राइक और ऐसे कई और गेम लोग खूब खेल रहे हैं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.