MP के राज्यपाल छुट्टियां छोड़ वापस लौटे, कमलनाथ के मंत्रियों का इस्तीफा, सिंधिया बीजेपी के संपर्क में ?

MP Crisis: मध्य प्रदेश में सियासी संकट गहराता नजर आ रहा है. कांग्रेस विधायकों के पाला बदलने की अटकलों के बीच मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दिल्ली का दौरा रद्द कर कांग्रेस के विधायकों की भोपाल में आपात बैठक बुलाई बैठक के बाद कमल नाथ ने अपने सभी मंत्रियों के इस्तीफे ले लिए. माना जा रहा है कि कमलनाथ ने ऐसा करके फेरबदल के संकेत दिए हैं ताकि सिंधिया से बातचीत के लिए रास्ते खुले रखे जा सकें.

इस बीच कमलनाथ सरकार को अस्थिर करने के आरोपों के बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया, उनके समर्थक कुछ मंत्रियों सहित 17 विधायकों के मोबाइल फोन सोमवार शाम अचानक बंद हो गये.

कांग्रेस के सूत्रों से खबर है कि सिंधिया को मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नियुक्त करने के लिए पार्टी आलाकमान पर दबाव बनाने के लिहाज से ऐसा किया गया है. वहीं दूसरी ओर अटकलें ये भी है कि सिंधिया बीजेपी के संपर्क में हैं. और कमलनाथ सरकार को गिराने की तैयारी हो चुकी है.
अटकलों का बाजार तब गर्म हुआ जब सिंधिया समर्थक कुछ मंत्रियों सहित 17 विधायकों के मोबाइल फोन सोमवार शाम अचानक बंद हो गये. बाद में पता चला कि कांग्रेस के विधायक बैंगलौर में हैं और एक रिसॉर्ट में रुके हुए हैं.

बीजेपी में जबरदस्त तैयारियां

उधर देर रात तक होली का त्यौहार छोड़कर बीजेपी के नेता सत्ता का गणित साधने में लगे रहे. पार्टी ने मध्यप्रदेश भाजपा के सभी बड़े नेताओं को भोपाल पहुंचने के निर्देश दे दिए. शिवराजसिंह चौहान, नरेन्द्र सिह तोमर,नरोत्तम मिश्रा, कैलाश विजयवर्गीय, प्रभारी महासचिव विनय सहस्त्रबुद्धे सहित अनेक नेताओं को भोपाल पहुंचने को कहा गया. कल जब होली खिल रही होगी भोपाल में भाजपा विधायक दल की बैठक होगी समय शाम सात बजे का रखा गया है. बैठक पार्टी के भोपाल की अरेरा कॉलोनी कार्यालाय में होगी.


मध्यप्रदेश भाजपा के सभी विधायकों के अलावा सभी भाजपा सांसदों केंद्रीय मंत्रियों को भी भोपाल बुलाया गया. मध्यप्रदेश का राज्यपाल कलराज मिश्र लखनऊ छुट्टी पर गए हुए थे उन्हें भी भोपाल लौटने को कहा गया है.

बैठक में केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोद, प्रहलाद पटेल,फग्गनसिंह कुलस्ते,भाजपा उपाध्यक्ष प्रभात झा सहित सभी मध्यप्रदेश के भाजपा सांसद को भी मौजूद रहने को कहा गया है.
इससे पहले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के घर पार्टी की बैठक हुई. इस बैठक में शिवराज सिंह चौहान, नरेंद्र सिंह तोमर,नरोत्तम मिश्रा ने हिस्सा लिया.

पार्टी ने तय किया कि ज्योतिरादित्य सिंधिया अगर पार्टी में आते हैं तो उनहें राज्यसभा में भेजकर केंद्रीय मंत्री पद का ऑफर दिया जाए.
इसके अलावा मध्यप्रदेश में सिंधिया समर्थकों को एक उप मुख्यमंत्री और 8 से 10 मंत्री पद भी बीजेपी दे सकती है.
समझा जा रहा है कि नरेन्द्र सिंह तोमर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बनेंगे अगर पार्टी का प्लान सफल रहात है, माना जा रहा है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ करीब चालीस विधायक है.