यूपी में दरोगा जी का प्राइवेट पार्ट काटकर ले गए बदमाश

बिहार ही क्यों यूपी में भी जंगल राज कम नहीं. मुठभेडों में लोगों की जान लेने के बावजूद पुलिस का नियंत्रण अपराधों पर नहीं हो  पा रहा है. अब तो बदमाश पुलिस वालों को ही निशाना बनाने लगे हैं. हालात ये हैं कि रायबरेली में हत्यारों ने नलकूप पर सो रहे दरोगा की हत्या कर दी और उसका दरोगा का प्राइवेट पार्ट भी काटकर ले गए. वारदात के समय दरोगा जी नलकूप पर सो रहे थे.

घटना की खबर आग की तरह फैल गई है. घटनास्थल पर बेकाबू हुई भीड़ ने चार घंटे तक लखनऊ-इलाहाबाद नैशनल हाइवे को जाम कर दिया. रोड जाम को हटाने में पुलिस के पसीने छूट गए. मृतक दारोगा के भाई की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात हत्यारों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और छानबीन में जुट गई है.

नलकूप के चौकीदार गुरु प्रसाद के अनुसार, रात करीब 10 बजे करीब आधा दर्जन लोग वहां पहुंचे और बरामदे में सो रहे दरोगा धर्मेन्द कुमार गौतम पर धारदार हथियार से हमला कर दिया. चौकीदार ने बताया कि हत्यारों ने उसकी आंख में पट्टी बांधकर दूसरे कमरे में बंद कर दिया और दरोगा को मार डाला.

दरोगा धर्मेन्द्र कुमार अमेठी जनपद में सर्विलांस सेल में तैनात थे और दो दिन की छुट्टी पर घर आए हुए थे. मृतक दरोगा का मूल निवास हरचंदपुर थाना क्षेत्र का मझिगवां करन गांव है और वर्तमान में उनका परिवार सीएचसी बछरावां के निकट रहता है.

दरोगा धर्मेन्द्र कुमार की हत्या की खबर सुबह करीब 4 बजे चौकीदार गुरु प्रसाद द्वारा उनके परिजनों को दी गई. घटना की जानकारी होते ही पास-पड़ोस के गांवों के सैकड़ों लोग घटनास्थल पर पहुंच गए.

गुस्साए लोगों ने लखनऊ-इलाहाबाद राजमार्ग को जामकर दिया और नारे लगाए. घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस अधीक्षक सुजाता सिंह व बछरावां विधायक रामनरेश रावत ने लोगों को समझा बुझाकर जाम खुलवाया.

मृतक के भाई वीरेन्द्र कुमार गौतम जिला पंचायत सदस्य बछरावां ने अज्ञात हत्यारों के खिलाफ थाने में तहरीर दी है. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. घटना को लेकर क्षेत्र मे भय एवं दहशत का माहौल बना हुआ है. पुलिस घटना की छानबीन में जुट गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.