आज आधी रात को शाहीनबाग के धरने पर एक्शन की तैयारी, ये जगह बनेगी अस्थायी जेल

चुनाव से दो दिन पहले ही हो सकता है कि शाहीन बाग के धरना धारियों को दिल्ली पुलिस गिरफ्तार कर ले. दिल्ली पुलिस ने इस के लिए चुनाव आयोग से इजाज़त मांगी है.

सूत्रों के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने दिल्ली सरकार से इजाजत मांगी है कि वो कंझावला के जगलीराम पहलवान स्टेडियम को तीन दिन के लिए जेल बनाने की इजाज़त दे.

पुलिस का कहना है कि वो इस स्टेडियम में बनी अस्थायी जेल में सीएए के प्रदर्शनकारियों को रखेगी ताकि चुनाव के दौरान धरने के कारण अड़चन न हो.

दिल्ली सरकार के सूत्रों के मुताबिक इस परमिशन का मतलब ये है कि आज रात को ही दिल्ली पुलिस शाहीनबाग के प्रदर्शनकारियों को वहां से हटा सकती है. आपको याद होगा कि शाहीन बाग में दो दिन पहले ही अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गई है.

इससे पहले चुनाव आयोग ने इस इलाके में आने वाले सभी मतदान केंद्रों को संवेदनशील घोषित कर दिया था. यहां पांच मतदान केंद्रों के तहत कुल 40 बूथ हैं. शाहीन बाग में पिछले 15 दिसंबर से नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ धरना-प्रदर्शन चल रहा है.

उधर मीडिया की खबरों के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने अपने बयान में इस बात से इनकार किया है कि उसने दिल्ली सरकार को चिट्टी लिखकर स्टेडियम की मांग की है ताकि जेल बनाई जा सके.

आम आदमी पार्टी (आप) ने भाजपा पर दिल्ली में कानून व्यवस्था बिगाड़ने का आरोप लगाया है. आप से राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने आरोप लगाया कि भाजपा नेताओं द्वारा दिए जा रहे भड़काऊ और आपत्तिजनक बयान दिल्ली का माहौल खराब करने के उद्देश्य से दिए जा रहे हैं. पार्टी मुख्यालय में प्रेसवार्ता कर सिंह ने कहा, मैंने शुक्रवार को ही चुनाव आयोग और दिल्ली पुलिस को आगाह किया था कि भाजपा और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह दिल्ली चुनाव को टालने के लिए बवाल कराने की साजिश रच रहे हैं. आम आदमी पार्टी ने दावा किया कि शाहीन बाग एवं जामिया मिल्लिया इस्लामिया में 2 फरवरी को बड़े पैमाने पर अशांति की साजिश रची जा रही है. खास कर वहां जहां सीएए के खिलाफ प्रदर्शन चल रहा है.

दिल्ली के शाहीन बाग में पांच मतदान केंद्र हैं. विधानसभा के लिए 8 फरवरी को मतदान होना है लेकिन शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ जारी धरना-प्रदर्शन अब तक खत्म नहीं हुआ है. दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी (सीईओ) रणबीर सिंह ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘शाहीन बाग में पुलिस अलर्ट है. ऐसे में जिन इलाकों में मतदान होना है वहां किसी तरह की कोई अप्रिय घटना नहीं होगी. मतदाताओं को बिना भय के मतदान करना चाहिए.’

रणबीर सिंह ने कहा कि मतदाताओं में विश्वास बनाए रखने के लिए सुरक्षा बल इलाके में मार्च करेंगे. शाहीन बाग ओखला निर्वाचन क्षेत्र में आता है. दिल्ली चुनाव आयोग की टीम ने बुधवार को शाहीन बाग इलाके में आकर चुनाव तैयारियों का जायजा लिया. टीम के सदस्यों ने स्थानीय लोगों से बात की.

बता दें कि देश में नागरिकता संशोधन कानून लागू होने के बाद शाहीन बाग में 15 दिसंबर से इस कानून के विरोध में धरना प्रदर्शन हो रहा है.

बता दें कि शाहीन बाग में नागरिकता कानून के खिलाफ धरना प्रदर्शन शुरू होने के बाद देश भर के कई राज्यों में इसी तर्ज पर प्रदर्शन शुरू हो गया. दिल्ली विधानसभा चुनाव में इसे आम आदमी पार्टी और भारतीय जनता पार्टी ने मुद्दा बनाया.