रिश्तों में तनाव के बीच पाकिस्तानी सेना ने उठाया चौंकाने वाला कदम, इमरान ने की तारीफ

जहां दुनिया में राष्ट्रवाद की महामारी फैल रही है और देश पागलपन की हद तक हथियारों पर पैसा बहा रहे हैं तब पाकिस्तान ने ये कदम उठाकर सबको चौका दिया है. पाकिस्तान ने अपने रक्षा बजट में कटौती की है. ये उस देश में हुआ है जिसमें सेना का दखल हद से ज्यादा है.

सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने सोशल मीडिया पर यह जानकारी दी. प्रधानमंत्री इमरान खान ने सेना के इस फैसले की तारीफ की. पाक में 11 जून को आम बजट पेश होना है. पाकिस्तान 2018 में विश्व का 20वां देश था, जिसने रक्षा बजट पर 80 हजार करोड़ रुपए खर्च किए थे.

सेना के मुताबिक, बजट में कटौती के बाद जो धनराशि बचेगी, उसका इस्तेमाल बलूचिस्तान के कबीलाई इलाकों के विकास के लिए किया जाएगा. मेजर गफूर ने कहा कि बजट में कटौती जरूर की है, लेकिन देश की सुरक्षा व्यवस्था से कोई समझौता नहीं करेंगे.

गफूर ने ट्वीट में लिखा, ‘‘अगले वित्त वर्ष के लिए रक्षा बजट में स्वैच्छिक कटौती सुरक्षा की कीमत पर नहीं की गई. हम सभी तरह के खतरों से निपटने में सक्षम हैं. इस कटौती के बाद बची राशि से देश की तीन योजनाओं में मदद की जाएगी. यह महत्वपूर्ण है कि हम कबीलाई क्षेत्रों और बलूचिस्तान के विकास में भागीदार बन रहे हैं.’’

इमरान ने कहा, ‘‘पाक सेना सुरक्षा से संबंधित कई बड़ी चुनौतियों का सामना कर रही है. इसके बावजूद उन्होंने बजट में कटौती करने का अच्छा फैसला लिया. कटौती के बाद बची हुई धनराशि से बलूचिस्तान के आदिवासी इलाकों का विकास किया जाएगा.’’ तकनीकी मंत्री फवाद चौधरी ने कहा, ‘‘यह कोई छोटा कदम नहीं है.’’