मोदी को आंख दिखा रहे हैं यूपी में उनके सहयोगी, लोकसभा चुनाव से पहले बुरी खबर

जैसे जैसे 2019 आ रहा है मोदी की मुसीबतें बढ़ती जा रही हैं. सबसे ज्यादा चिंता यूपी की तरफ से है. एसपी और बीएसपी की नज़दीकियों के बाद अब राज्य में खुद बीजेपी के सहयोगियों विपक्ष की तरफ रुझान दिखाना शुरू कर दिया है.

हालत ये है कि खुद मोदी की कैबिनेट के मंत्री ओम प्रकाश राजभर बीजेपी पर हमले कर रहे हैं. अखिलेश यादव के फ्लैट में तोड़ फोड़ के मामले में उन्होंने उन्होंने कहा कि अखिलेश को बदनाम किया जा रहा है. राजभर ने मामले में अखिलेश यादव का हाथ होने से इन्कार किया. उन्होंने कहा कि ये मामला वर्तमान और पूर्व मुख्यमंत्री के बीच का ज्यादा है.

ओम प्रकाश राजभर आज जयपुर से तीन दिन के दौरे पर वाराणसी पहुंचे थे. मीडिया के अखिलेश यादव के बंगले में तोडफ़ोड़ के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि इस बात में सच्चाई नहीं है कि अखिलेश यादव ने सरकारी बंगला, चार विक्रमादित्य मार्ग लखनऊ में तोडफ़ोड़ की है.

पिछड़ा वर्ग तथा विकलांग कल्याण मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने साफ कहा कि बंगले में तोडफ़ोड़ का आरोप अखिलेश यादव को बदनाम करने की कोशिश है. उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति अगर बंगला खाली करता है तो वह ऐसा नहीं करेगा. यह साजिश के तहत अखिलेश यादव को बदनाम करने की बड़ी साजिश हो सकती है.

उन्होंने कहा कि हो सकता है अखिलेश यादव को बदनाम करने की साजिश किसी ने रची हो. यह मामला तो पूर्व तथा वर्तमान मुख्यमंत्री के बीच का है. सच्चाई वही बता सकते हैं. उन्होंने कहा कि अखिलेश हों या फिर मैं खुद बंगला खाली करते समय ऐसी हरकत कोई नहीं करेगा. ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि कहीं गलत हो रहा है तो अन्याय के खिलाफ आवाज उठाना भारतीय समाज पार्टी का कर्तव्य है. किसी का भी शोषण होगा तो आवाज उठाता रहूंगा. मुझे कोई रोक नहीं सकता है.