केजरीवाल को लग सकता है बड़ा झटका,टल सकता है चुनाव …

अगर शिकायतकर्ता की बातों से अदालत सहमत हुई तो हो सकता है कि दिल्ली में मुख्यमंत्री केजरीवाल का सीट पर चुनाव बाद में हों. ये भी हो सकता है कि चुनाव की तारीख ही आगे बढ़ जाए. मामला 11 लोगों का है. इन 11 लोगों को दिल्ली चुनाव में केजरीवाल की सीट पर पर्चे भरने के दौरान इंतजार करना पड़ा था.

इनका आरोप है कि केजरीवाल को पर्चा भरते समय वीआईपी ट्रीटमेंच दिया गया है. दिल्ली हाईकोर्ट ने इस मामले में दिल्ली सरकार दिल्ली इलेक्शन ऑफिस और केंद्र सरकार को किया नोटिस

दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि इस मामले की अंतिम सुनवाई अब 6 फरवरी को की जाएगी. 8 फरवरी को चुनाव हैं और कोर्ट इससे संतुष्ठ नहीं हुआ तो चुनाव की तारीखों तक पर असर पड़ सकता है.

अदालत पहुंचे 11 लोगों ने याचिका लगाई है के अरविंद केजरीवाल को वीआईपी ट्रीटमेंट देने के चक्कर में उनको नामांकन दाखिल करने के लिए वक्त ही नहीं दिया गया और जल्दबाजी में उनका नामांकन खारिज कर दिया गया. इससे पहले दिल्ली हाईकोर्ट की सिंगल बेंच इस याचिका को खारिज कर चुकी है

आज हुई सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ताओं की तरफ से दिल्ली हाईकोर्ट को कहा गया चुनाव 8 फरवरी को होने हैं और उनके नतीजे भी 11 फरवरी तक आने हैं लिहाजा उन को नामांकन दाखिल करने के लिए वक्त दिया जाना चाहिए

याचिकाकर्ता का तर्क था कि people representation act के तहत अगर नामांकन के दौरान गड़बड़ी पाई गई है और चुनाव तब तक नहीं हुए हैं तो उसको कोर्ट में  चुनौती दी जा सकती है याचिकाकर्ता का तर्क है कि सिंगल बेंच ने पुन्नू स्वामी जजमेंट के मद्देनजर सिर्फ इस आधार पर चुनाव आयोग का तर्क सुनने के बाद के नामांकन की प्रक्रिया पूरी हो गई है, हमारी अर्जी को खारिज कर दिया था