करप्शन में इंडिया बना नंबर वन, फोर्ब्स पत्रिका ने जारी की लिस्ट

नई दिल्ली :  भारत के लिए शर्मनाक खबर है. हो सकता है कि कुछ देशभक्त इसके बाद भारत छोड़कर चले जाने की सलाह दें लेकिन भारत भ्रष्टाचार में  नंबर वन देश हो गया है. फोर्ब्स ने एक ट्वीट किया है इसमें इस लिस्ट में पहले नंबर पर भारत, दूसरे पर वियतनाम, तीसरे पर थाईलैंड चौथे पर पाकिस्तान और पांचवें नंबर पर म्यांमार है. फोर्ब्स का ये आंकड़ा मार्च 2017 का है. इसमें भारत को सबसे भ्रष्ट देश बताया गया है और पाकिस्तान इस लिस्ट में चौथे नंबर पर है. ये पहला मौका है जब करप्शन भारत में इस स्तर तक पहुंचा है.

ये भी पढ़ें :  डोकलाम में चीन ने फिर शुरू किया सड़क निर्माण, इस बार चुप क्यों है भारत ?

फोर्ब्स ने अपनी खबर में लिखा है कि कि ट्रांसपैरेंसी इंटरनेशनल के 18 महीने के सर्वेक्षण से पता चलता है कि अभी बहुत काम होना बाकी है. फोर्ब्स ने अपनी सूची पर भारत के बारे में कहा है कि यहां छह सार्वजनिक सेवाओं में से पांच- स्कूलों, अस्पतालों, आईडी दस्तावेज, पुलिस और उपयोगिता सेवाएं लेने में आधे से ज्यादा लोगों को रिश्वत का भुगतान करना पड़ा है. खबर में सबसे मज़ेदार तथ्य है प्रधानमंत्री मोदी को लेकर लोगों की राय. 53% लोगों का मानना है कि मोदी करप्शन दूर करने के लिए काम कर रहे हैं. इससे पता चलता है कि प्रधानमंत्री का प्रचारतंत्र बेहद मजबूत है और वो किसी भी तरह के हालात में उन्हें पसंदीदा बनाए रखने में कामयाब है.

ये भी पढ़ें :  पहलवान मुलायम ने आखिरी दिन मोदी को दी धोबी पछाड़, ये तारीफ नहीं थी

फोर्ब्स के ट्वीट को कुमार विश्वास ने भी रीट्वीट किया है. कुमार विश्वास ने लिखा है कि पहले ही कहा था कि नंबर वन बना दूंगा, बना दिया ? इसे पीएम नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष मानाजा रहा है.बहुत से लोगो ने कुमार विश्वास के ट्वीट पर प्रतिक्रिया दी है.

एक ने लिखा है कि पीएम मोदी के कार्यकाल में हम किसी चीज में तो नंबर वन आए. एक ने लिखा है कि हां मोदी जी से पहले तो सारे अन्ना हजारे थे, कोई रिश्वत नहीं लेता था. एक ने लिखा है कि 2 साल बाकी हैं सोमालिया की बराबरी में लाने के प्रयास चल रहे हैं.

Spread the love