पीएम मोदी ने बताया कि विपक्ष ने क्या क्या रखे उनके नाम, बंदर से लेकर बिच्छू तक बताए पचासों नाम

राहुल गांधी के हग के जवाब में पीएम मोदी ने आज फिर विक्टिम कार्ड खेला. मोदी ने कहा कि मुझे हर तरह की गालियां दी गई. उन्होंने कहा …

कांग्रेस के नेताओं ने मुझे रावण, सांप, बिच्छू, गंदा आदमी, जहर बोने वाला तक बोला.

कांग्रेस के नेता जिसके सामने नतमस्तक होते हैं, उन्होंने भी मुझे मौत का सौदागर कहा.

ये इनका ‘प्रेम’ करने का तरीका है. इनके एक नेता ने मुझे हिटलर कहा तो दूसरे ने मुझे बदतमीज नालायक बेटा कहा.

इतना ही नहीं, मुझे रैबीज बीमारी से पीड़ित बंदर बोला गया, चूहा बोला गया, लहू पुरुष बोला गया, असत्य का सौदागर बोला गया.

कांग्रेस के एक और नेता हैं, देश के विदेश मंत्री रह चुके हैं, उन्होंने मुझे बंदर कहा.

इनके एक और मंत्री ने मुझे वायरस कहा तो दूसरे ने दाऊद इब्राहिम का दर्जा दे दिया.

कांग्रेस के एक नेता ने मुझे कहा गंदी नाली का कीड़ा कहा, तो दूसरा मुझे गंगू तेली कहने आ गया.

इनके एक नेता ने मुझे पागल कुत्ता कहा, तो दूसरा नेता सामने आया और मुझे भस्मासुर की उपाधि दे दी.

लेकिन क्योंकि मैं कांग्रेस और उसके महामिलावटी साथियों को उनकी मनमानी नहीं करने देता, उनके भ्रष्टाचार को रोकता हूं, उनके वंशवाद को चुनौती देता हूं, इसलिए ये लोग बार-बार प्रेम का नकाब पहनकर मुझे गालियां देते रहते हैं.

मैं बहुत ईमानदारी से, बहुत परिश्रम से, दिन रात एक करके आपकी सेवा में जुटा हूं. आप ही मेरा परिवार हैं, आपकी ही खुशहाली मेरा कर्तव्य है.

रामायण और महाभारत को गाली देने वालों के समर्थक आज भी इनके बीच में हैं.

भगवान का नाम लेने पर जेल भेजने की मानसिकता वाले लोगों के साथ भी मंच साझा करते हैं.

जब भारत की संस्कृति की बात आती है तो कांग्रेस के मुंह पर वोटबैंक का ताला लग जाता है.

ध्यान रखिएगा, अब भी इनकी मानसिकता बदली नहीं है.