आखिर भारत के चुनाव से इतना क्यों डरे हुए हैं इमरान खान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने फ़ाइनैंशियल टाइम्स को दिए इंटरव्यू में कहा है कि भारत ‘युद्धोन्माद'(युद्ध के लिए पागल होना) से ग्रसित है.

उन्होंने कहा कि पड़ोसी देश में चुनाव है इसलिए एक और टकराव की आशंका है. ख़ान ने कहा कि वो भारत में चुनाव होने तक चिंतित हैं.

इमरान ख़ान ने कहा, ”जब पुलवामा में आत्मघाती हमला हुआ तो मुझे लगा कि मोदी सरकार युद्धोन्माद को हवा देगी. भारतीय नागरिकों को समझना चाहिए कि यह सब चुनाव जीतने के लिए है. सच ये है कि इस उपमहाद्वीप में में असली मुद्दे कुछ और हैं.”

कश्मीर मुस्लिम बहुल इलाक़ा है और इस पर पाकिस्तान भी दावा करता है. ख़ान का कहना है कि जिस जैश-ए-मोहम्मद की बात की जा रही है वो भारत में है और जिस लड़के ने आत्मघाती हमला किया वो 19 साल का कश्मीरी था.

इमरान ख़ान का कहना है कि हमला करने वाला भारतीय था, कार भारतीय थी, जो विस्फोटक था वो भी भारत से ही आया तो फिर पाकिस्तान को क्यों घेरा जा रहा है.

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कहा, ”मैं महसूस कर हूं कि कुछ फिर से कुछ हो सकता है.”

इस इंटरव्यू में पीएम ख़ान ने ये भी कहा कि वो पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाएंगे और अपने मुल्क को चीन का क्लांइट नहीं बनने देंगे.

उन्होंने कहा कि सत्ता में आने के बाद आतंकी संगठनों के ख़िलाफ़ कई सफल ऑपरेशन चलाए गए हैं. ख़ान कहा कि यह नया पाकिस्तान है जहां आतंकियों के लिए कोई जगह नहीं है.

14 फ़रवरी को भारतीय सुरक्षा बलों पर हुए आत्मघाती हमले के बाद दोनों देशों में भारी तनाव की स्थिति बनी लेकिन एक हद के बाद चीज़ें थमीं.

उन्होंने कहा कि भारत ने सीमापार करने का नया तरीका अपनाया है. पाकिस्तान ने भी भारत की एयरस्ट्राइक का 24 घंटे के भीतर जवाब दिया. पाकिस्तान ने भारतीय वायुसेना के एक पायलट को गिरफ़्तार भी कर लिया. हालांकि पाकिस्तान ने 36 घंटे के भीतर ही भारतीय पायलट को वापस कर दिया था.