मोदी की ट्रंप से बातचीत में होगी CAA पर चर्चा ? व्हाइट हाऊस से आया है ये बयान

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अगले हफ्ते होने वाले भारत यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समक्ष धार्मिक स्वतंत्रता का मुद्दा उठाएंगे. व्हाइट हाउस ने शुक्रवार को यह जानकारी देते हुए कहा कि अमेरिका, भारत की लोकतांत्रिक परम्पराओं और संस्थानों का बहुत सम्मान करता है.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कांफ्रेंस कॉल में पत्रकारों से कहा, ‘‘ अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प अपने सार्वजनिक और निश्चित तौर पर निजी, दोनों भाषणों में हमारी साझा लोकतांत्रिक परम्परा और धार्मिक आजादी के बारे में बात करेंगे. वे इन मुद्दों को उठाएंगे, खासतौर से धार्मिक आजादी का मुद्दा, जो इस प्रशासन के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है.’’

अधिकारी से यह पूछा गया था कि क्या संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) या राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) पर ट्रंप की प्रधानमंत्री से बात करने की योजना है. इससे पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी भारत यात्रा से पहले एक बार फिर व्यापार में ऊंचे शुल्क का मुद्दा उठा चुके हैं.

ट्रंप का कहना है कि भारत कई साल से अमेरिका के साथ व्यापार में सख्त रवैया अपनाये हुये है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ इस बारे में उनकी बातचीत होगी. ट्रंप पहले भी कई बार भारत पर व्यापार के मामले में अमेरिका के उत्पादों पर काफी ऊंचे शुल्क लगाने की शिकायत कर चुके हैं. वह भारत को शुल्क लगाने का चैंपियन तक कह चुके हैं.

मालूम हो कि ट्रंप अपनी पत्नी मेलानिया ट्रंप और एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल के साथ 24 फरवरी की दोपहर अहमदाबाद पहुंचेंगे. ट्रंप की बेटी इवांका और दामाद जेरेड कुशनेर भी प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा होंगे. दिल्ली में राष्ट्रपति ट्रंप और मेलानिया ट्रंप का 25 फरवरी को राष्ट्रपति भवन में रस्मी स्वागत किया जायेगा. वहां से वे महात्मा गांधी की ‘समाधि’ पर श्रद्धांजलि देने के लिए राजघाट जायेंगे. इसके बाद हैदराबाद हाउस में ट्रंप और मोदी के बीच प्रतिनिधि स्तर की वार्ता होगी. इससे पहले ट्रंप अहमदाबाद से आगरा की यात्रा पर जायेंगे.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और अन्य गणमान्य व्यक्तियों के स्वागत के लिए लुटियंस दिल्ली में विभिन्न प्रमुख स्थानों को कई रंगों वाले संकर डहेलिया और ट्यूलिप समेत कई रंग बिरंगे फूलों से सजाया जायेगा. नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (एनडीएमसी) के एक अधिकारी के अनुसार प्रमुख चौराहों समेत विभिन्न प्रमुख स्थानों को भी फूलों से सुंदर बनाया जायेगा.