लोग मुंह पर कह देते हैं कमल को वोट नहीं देंगे – मेनका गांधी

केन्द्रीय मंत्री और बीजेपी की तरफ से Lok Sabha Election 2019 लड़ रहीं मेनका गांधी ने आज अपने दिल का दर्द बयान किया . उन्होंने कहा कि लोग मुंह पर बोल देते हैं कि कमल को वोट नहीं देंगे ये उन्हें अच्छा नहीं लगता. इससे वो गुस्से में आ जाती हैं.

उन्होंने जोर देकर यह भी कहा कि उनके पिछले बयान को गलत संदर्भ में लिया गया और वो काम करते समय जाति-धर्म की बातों को महत्व नहीं देतीं.

महीनेभर पहले उन्होंने मुस्लिम समुदाय के एक कार्यक्रम में संबोधित करते हुए कहा था कि उन्हें बीजेपी को वोट देना चाहिए, क्योंकि चुनाव खत्म होने के बाद उन्हें जरूरत पड़ेगी.

बुधवार (08 मई) को उन्होंने कहा, ‘बुरा लगता है जब लोग खुलेआम कह देते हैं कि कमल (बीजेपी का चुनाव चिह्न) को वोट नहीं देंगे.’

पहले लगा था 48 घंटे का प्रतिबंधः पीटीआई ने मेनका के हवाले से लिखा है, ‘मैं जहां-जहां भी गई, मैंने हर जाति-धर्म के बारे में सोचा. जब हम काम करते हैं, हम सभी के लिए काम करते हैं.

तब कोई कमल के फूल के बारे में नहीं सोचता, लेकिन जब वोट देने की बारी आती है तो लोग कहते हैं वे मुझे वोट नहीं देंगे क्योंकि कमल के फूल पर वोट नहीं देना चाहते. यह बुरा लगता है.’ उल्लेखनीय है कि पिछले बयान के लिए चुनाव आयोग ने उनके प्रचार करने पर 48 घंटे का प्रतिबंध लगा दिया था.