मायावती ने अपना बंगला खाली किया, लेकिन चाभी लेने को कोई तैयार नहीं

नई दिल्ली : राज्य सम्पत्ति विभाग से नोटिस मिलने के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने बुधवार को अपना बंगला खाली कर दिया है. उन्होंने इसकी चाभी स्पीड पोस्ट से भेज दी है. मायावती के निजी सचिव मेवालाल गौतम ने बताया कि चाबियां स्पीड पोस्ट से इसलिए भेजनी पड़ीं क्योंकि अवर अभियंता ने कब्जा लेने से इन्कार कर दिया था.

मायावती की ओर से मंगलवार को राज्य संपत्ति अधिकारी को पत्र लिखकर ६, लाल बहादुर शास्त्री मार्ग बंगला खाली करने की सूचना दी गई थी. आरएसए कार्यालय में पत्र रिसीव करने से इन्कार कर दिया गया.

कहा कि वीवीआईपी गेस्ट हाउस में अवर अभियंता (अनुरक्षण) लोक निर्माण विभाग कब्जा लेने की कार्यवाही करते हैं. उन्हें ही कब्जा व पत्र दिया जाए. अवर अभियंता ने राज्य संपत्ति अधिकारी की अनुमति के बिना बंगले की चाबी व पत्र लेने से इन्कार कर दिया. इस पर राज्य संपत्ति अधिकारी के नाम पत्र व बंगले की चाबियां स्पीड पोस्ट से अवर अभियंता को भेज दी गईं. ये बुधवार को प्राप्त हो गई हैं.

मायावती ने राज्य संपत्ति अधिकारी को लिखे पत्र में कहा है कि 6, लाल बहादुर शास्त्री आवास उन्हें बतौर पूर्व मुख्यमंत्री 23 दिसंबर 2011 को आवंटित किया गया था. सुप्रीम कोर्ट के 7 मई के आदेश के अनुपालन में वह यह बंगला पूरी तरह खाली कर रही है.

मायावती ने कहा है कि बंगला आवंटित करते समय मुझे जनरेटर, विद्युत पैनल, ट्रांसफार्मर, एसी, पंखे, ट्यूबलाइट, साउंड सिस्टम व फायर फाइटिंग सिस्टम लगे हुए थे. ये वर्तमान में भी लगे हुए हैं और पूरी तरह से ठीक हालत में हैं. इसके अलावा राज्य संपत्ति विभाग ने अन्य कोई फर्नीचर व फिक्सचर नहीं दिया था.