‘पुुलवामा में वोटों के लिए मरवाए गए 40 सैनिक, सरकार बदली तो कई अंदर होंगे’

2019 के चुनाव में अपने फायदे के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने 40 जवानों की हत्या करवाई है. ये एक बड़ी साजिश थी जिसमें जवान वोट के लिए मार दिए गए.

सैफई में होली मिलन समारोह के दौरान सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की उपस्थिति में राम गोपाल ने ये आरोप लगाया है. उन्होंने कहा- ‘पैरामिलिट्री फोर्सेज सरकार से दुखी है क्योंकि वोट के लिए जवान मार दिए गए.

जम्मू-श्रीनगर के बीच में चेकिंग नहीं की जा रही थी और साधारण बसों से जवानों को भेज दिया गया. यह साजिश थी. इस पर अभी नहीं कहना चाहता, जब सरकार बदलेगी तो इसकी जांच होगी और बड़े-बड़े लोग फंसेंगे.’

इटावा के सैफई में होली पर आयोजित समारोह में समाजवादी पार्टी के प्रमुख राष्ट्रीय महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव ने कहा कि मैनपुरी संसदीय सीट से नेता जी मुलायम सिंह यादव चुनाव लड़ रहे हैं लेकिन उनकी जानकारी में आया है, जहां पर सपा समर्थको की तादात है वहां वहां पर पैरामिलेट्री फोर्स की तैनाती की जा रही है लेकिन पैरामिलेट्री के अफसर बहुत ही दुखी हैं.

प्रो. रामगोपाल ने 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर में पुलवामा हमले का जिक्र करते हुए कहा कि जम्मू-श्रीनगर के बीच चेकिंग नहीं की थी, जवानों को सादी बस में भेजा गया, ये साजिश थी. उन्होंने कहा कि इस साजिश के बारे में अभी कुछ नहीं कहना चाहता हूं लेकिन जब सरकार बदलेगी तब इस मामले की जांच होगी और बड़े-बड़े लोग फंसेंगे.

देश को बचाने के लिए सपा बसपा ने किया मेल

सपा के प्रमुख राष्ट्रीय महासचिव ने कहा कि देश की सरकार को दिल्ली से उतारने का काम यूपी करने जा रहा है. चंद लोगों को खुश करने की कोशिश है, नोटबंदी ने एक साथ पांच करोड़ लोगों को बेराजगार कर दिया है. देश को बचाने के लिए सपा बसपा ने मेल किया है.

भाजपा देश में तानाशाही लाने के काम करने की कोशिश कर रही है. उन्होंने पुरानी बातों का जिक्र करते हुए कहा कि तब सपा-बसपा ने एक होकर सरकार बनाई थी तब समाजवादी पार्टी का जनमत इतना नहीं था लेकिन आज ताकत बहुत अधिक हो चुकी है.

सबसे अधिक वोटों से जीतें नेताजी यही चाहत

प्रोफेसर रामगोपाल ने कहा कि देश में नेताजी (मुलायम सिंह यादव) की सबसे अधिक वोटों से जीत हो यही चाहत है. नेताजी के नाम की घोषणा के बाद मैनपुरी में उनका पुतला जलाया गया लेकिन किसी नेता ने निंदा भी नहीं की. इस बात का अफसोस है लेकिन यह कहने में कोई संकोच नही कि नेताजी के चुनाव के बाद वह लोग राजनीति करने लायक नही रहेेंगे. नेताजी तो मैनपुरी में सिर्फ नामांकन करने आएंगे और उनका चुनाव तो मैनपुरी वाले लड़ेंगे.

इससे पहले कांग्रेस नेता बीके हरिप्रसाद ने भी पुलवामा पर विवादित बयान दिया था. उन्होंने कहा था, ‘यदि पुलवामा हमले के बाद के घटनाक्रम पर नजर डालेंगे तो पता चलता है कि पीएम नरेंद्र मोदी और इमरान खान के बीच मैच फिक्सिंग थी.’ इस पर भाजपा ने कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा था कि यह सब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इशारे पर हो रहा है.

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 40 जवान शहीद हो गए थे. पुलवामा जिले में श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर अपनी विस्फोटकों से लदी एसयूवी सीआरपीएफ की बस से टकरा दी और उसमें विस्फोट कर दिया था. इस हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी.

Leave a Reply