भीम आर्मी की महिलाओं ने दिल्ली के जाफराबाद की सड़कें जाम की, ये है मांग

CAA और NRC के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए शनिवार देर रात से ही महिलाएं दिल्ली के जाफराबाद मेट्रो स्टेशन (Jaffrabad Metro Station) के पास भी एकजुट होने लगीं. धीरे-धीरे महिलाओं का हुजूम बढ़ता गया, जिसके बाद भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई. प्रदर्शन के चलते ट्रैफिक व्यवस्था पर असर पड़ रहा है. उत्तर-पूर्व दिल्ली के डीसीपी ने प्रदर्शनकारियों को वहां से जाने के लिए कहा है. फिलहाल प्रदर्शनकारी महिलाएं धरने पर बैठी हुई हैं. पुलिस उन्हें वहां से हटाने की कोशिश कर रही है.

ये भी पढ़ें :  दिल्ली के आसमान में 'जासूसी बाज़' मिलने से सनसनी, पाकिस्तान पर शक

प्रदर्शन कर रहीं महिलाओं ने तिरंगा लेकर ‘आजादी’ के नारे लगाते हुए कहा कि वह तब तक प्रदर्शन स्थल से नहीं हटेंगी जब तक कि केंद्र सरकार CAA को रद्द नहीं कर देती. वह CAA और NRC से आजादी की मांग कर रही हैं. कई महिलाओं ने अपनी बांह पर एक नीली पट्टी भी बांधी हुई है और वह ‘जय भीम’ के नारे भी लगा रही हैं.

मौके पर महिलाओं का पहुंचना जारी है. धरनास्थल पर नारेबाजी हो रही है. महिलाएं CAA को वापस लेने की मांग को लेकर नारेबाजी कर रही हैं. प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (DMRC) ने जाफराबाद मेट्रो स्टेशन पर यात्रियों की एंट्री और एग्जिट बंद कर दी है. इस स्टेशन पर फिलहाल के लिए मेट्रो भी नहीं रुकेगी.

ये भी पढ़ें :  'अब तक 100 संसदीय सचिवों के खिलाफ कोर्ट के फैसले तक हुए लेकिन ऐसा एक्शन कभी नहीं हुआ"

गौरतलब है कि प्रमोशन में आरक्षण के मुद्दे पर भीम आर्मी (Bhim Army) के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) ने आज (रविवार) ‘भारत बंद’ बुलाया है. जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के पास प्रदर्शन कर रहीं महिलाओं का यह भी कहना है कि वह चंद्रशेखर आजाद द्वारा आज बुलाए गए भारत बंद के समर्थन में धरना दे रही हैं. प्रदर्शन को देखते हुए वहां महिला पुलिसकर्मियों सहित भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है.

ये भी पढ़ें :  ये है मोदी के बार-बार आपा खोने और गुस्से की वजह, फेसबुक पर सीनियर पत्रकार का विश्लेषण

बताते चलें कि प्रदर्शनकारी महिलाओं ने सीलमपुर को मौजपुर और यमुना विहार से जोड़ने वाली सड़क नंबर 66 को ब्लॉक कर दिया है. अचानक विरोध प्रदर्शन की वजह से यातायात बाधित हो गया. इलाके में जाम की समस्या पैदा हो गई है. सड़क खाली कराने के लिए पुलिस प्रदर्शनकारियों से बात करने की कोशिश कर रही है.