आयकर विभाग की सफाई, आग में नहीं जली होंगी नीरव मोदी की फाइलें

नई दिल्ली : कल ही सिंधिया हाऊस में आग लगी और आज इनकम टैक्स विभागने पता करके बता भी दिया कि आग में कौन से कागज़ जले और कौनसे बच गए. इक दिन पहले तक आशंका जताई जा रही थी कि नीरव मोदी घोटाले की फाइलें आग से जल गई है. आज इनकम टैक्स विभागने कहा कि पीएनबी घोटाले में मुख्य आरोपी नीरव मोदी के मुंबई के सिंधिया हाउस (मुंबई) में लगी आग में दस्तावेज़ नष्ट ही नहु हुए हैं.

न्यूज एजेंसी एनआई के मुताबिक आयकर विभाग ने कहा है कि नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के खिलाफ चल रही जांच के दस्तावेज मूल्यांकन प्रक्रिया के तहत पहले ही अन्य इमारतों में आकलन इकाइयों को ट्रांसफर कर दिए गए हैं. सिंधिया हाउस में आग में रिकॉर्ड के नुकसान की आशंका गलत है.

बता दें कि दक्षिण मुम्बई स्थित इनकम टैक्स विभागके दफ्तर सिंधिया हाउस में शुक्रवार शाम को आग लग गई थी. बताया जा रहा था कि इनकम टैक्स विभागके इसी दफ्तर में नीरव मोदी जैसे कई आर्थिक अपराधियों से जुड़े कानूनी दस्तावेज रखे थे. साथ ही कर चोरी से जुड़े कई मामलों की फाइलें भी यहीं जमा थीं.

इनकम टैक्स विभागने ट्वीट कर कहा कि मीडिया के कुछ हिस्सों में रिपोर्टों का खुलासा करते हुए आरोप लगाया गया है कि नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की जांच से संबंधित दस्तावेज मुंबई में इनकम टैक्स विभागके सिंधिया हाउस की आग में नष्ट हो गए हैं. ये खबर पूरी तरह से झूठी और गलत है.

दक्षिण मुम्बई स्थित इनकम टैक्स विभागके दफ्तर सिंधिया हाउस में 300 से ज्यादा कर्मचारी काम करते हैं. बेनामी संपत्ति समेत आयकर से जुड़े कई मामलों के अहम दस्तावेज इसी इमारत में रखे जाते हैं.

बता दें कि नीरव मोदी और विजय माल्या जैसे आर्थिक अपराधियों के प्रत्यर्पण के लिए भारत सरकार लगातार प्रयासरत है लेकिन फिर भी ऐसे कई अपराधी अब भी कानून की जद से बाहर हैं.

नीरव मोदी और मेहुल चोकसी पीएनबी के साथ करीब 13 हजार करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के आरोपी हैं.