मोदी पर फिल्म की शूटिंग के लिए फूंक दी गई ट्रेन की बोगी, रेल्वे ने दी इजाज़त

पीएम मोदी की आत्मकथा पर बनने वाली फिल्म के के लिए एक ट्रेन के डिब्बे को फूंक दिया गया और बाकायदा रेल्वे ने इसके लिए इजाजत भी दी. मुंबई के बेंचमार्क प्रोडक्शन की ओर से जारी आधिकारिक चिट्ठी को जयराज ने साइन किया है और उसे वडोदरा नगर निगम के चीफ फायर अफसर को इस बारे में सूचित किया है.

आधिकारिक चिट्ठी में लिखा है- 3 मार्च को हम पीएम नरेन्द्र मोदी की बायोपिक के शूट के लिए पुराने रेलवे स्टेशन प्रताप नगर- दभोई का इस्तेमाल करेंगे. कृपया हमें शूटिंग स्थान पर कर्मचारियों के साथ एक फायर टेंडर प्रदान करें. हम इसके लिए जो भी फीस है वो भुगतान करने के लिए तैयार हैं.

वेस्टर्न रेलवे पीआरओ खेमराज मीणा ने कहा कि बायोपिक के शूट के लिए इजाजत दी गई है. ये शूट छोटी लाइन के विश्वामित्र रेलवे स्टेशन पर हुआ है. इस शूट की वजह से किसी भी तरह का ट्रैफिक बाधित नहीं हुआ है. इसके साथ ही अधिकारी ने बताया कि जिस बोगी को जलाया गया है वो भी हमारी ओर से दी गई है.

शूट के बारे में सुपरवाइजिंग एग्जिक्यूटिव जयराज ने बताया कि ये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर बन रही बायोपिक है. यह सीन उन चुनौतियों को दिखाता है जिसका उन्होंने सामना किया था. रेलवे ने हमे कोच दिया है और साथ ही सिर्फ बाहर से शूट करने की हिदायत दी है. बता दें कि बोगी के अंदर के हिस्से की शूटिंग मुंबई में फिल्म सेट लगाकर होगी.

बता दें कि शूटिंग सीन में फिल्म का वो हिस्सा शूट किया जा रहा था जो गोधरा कांड से जुड़ा हुआ है. बता दें कि 27 फरवरी 2002 को साबरमती एक्सप्रेस के एस 6 कोच में आग लग गई थी. इस आग में 59 लोगों की मौत हुई थी जिसमें अयोध्या से आ रहे कर सेवक भी शामिल थे. इस आग के बाद गुजरात में दंगे भड़क गए थे.

इंडियन एक्सप्रेस के बातचीत के दौरान प्रोडक्शन कंपनी के एक एग्जिक्यूटिव ने बताया कि पीएम मोदी पर बन रही फिल्म के इस हिस्से के शूट के लिए वडोदरा फायर डिपार्टमेंट और वेस्टर्न रेलवे से इजाजत ले ली गई है. इसकी साथ ही ऐसी उम्मीद लगाई जा रही है कि फिल्म लोकसभा 2019 के चुनाव से पहले रिलीज होगी.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.