इमरान खान ने कहा चुनावी साल है इसलिए युद्ध वाला बवाल, डरते नहीं हैं

पुलवामा हमले पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मंगलवार को बयान जारी किया है. अपने बयान में उन्होंने कहा कि अगर हमपर हमला किया गया तो पाकिस्तान खुला जवाब देगा. पाकिस्तानी पीएम इमरान खान ने कहा कि हिंदुस्तान की सरकार पुलवामा हमले को लेकर बिना किसी सबूत के पाकिस्तान के ऊपर इल्जाम लगा रही है, हमने पहले इसलिए जवाब नहीं दिया क्योंकि सऊदी प्रिंस के दौरे को लेकर हमारा ध्यान था. जब क्राउन प्रिंस वापस गए हैं इसलिए अब मैं जवाब दे रहा हूं.

इमरान ने कहा कि हिंदुस्तान में लोग कह रहे हैं कि पाकिस्तान को सबक सिखाना चाहिए. कोई भी कानून किसी को जज बनने की इजाजत नहीं देता है, चुनाव का साल है इसलिए आप इस तरह की बातें कर रहे हैं. अगर आप सोचते हैं कि पाकिस्तान पर हमला करना चाहिए तो हम जवाब देने के लिए बिल्कुल तैयार हैं. उन्होंने कहा कि हम जानते हैं कि जंग शुरू करना आसान है, लेकिन इसे खत्म करना काफी मुश्किल है. इमरान ने कहा कि दोनों देशों के बीच जो मसला है वो सिर्फ बातचीत से ही हल होगा.

उन्होंैने कहा कि भारत सरकार ने बिना किसी सबूत के पाकिस्तान सरकार पर आरोप लगाए हैं. इमरान ने कहा, “यह नया पाकिस्तारन है, हम स्थाउयित्वे चाहते हैं. कश्मी र में होने वाली हर बात के लिए हमें जिम्मेरदार मत ठहराइए.” इमरान ने कहा कि हमें सबूत दीजिए कि इस हमले में पाकिस्ताबन शामिल था, हम कार्रवाई करेंगे. उन्होंलने कहा कि कुछ तो वजह होगी कि कश्मीेरी नौजवान मौत से नहीं डरते. इमरान ने कहा कि “अगर भारत हमला करता है तो हम जवाब जरूर देंगे. जंग शुरू करना बड़ा आसान है, उसे खत्मै करना मुश्किल.”

उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान की सरकार ने बिना किसी सबूत के पाकिस्तान पर इल्जाम लगा दिया, पाकिस्तान क्यों करेगा, इससे हमें क्या फायदा. अगर भारत की सरकार हमें कोई सबूत देगी तो हम इस मसले पर जांच करने के लिए तैयार है. अपने बयान में इमरान खान ने कहा कि पिछले 15 साल से हम आतंकवाद के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं, इससे हमें कोई फायदा नहीं है. हर बार कश्मीर में कुछ भी होता है तो पाकिस्तान पर इल्जाम लगाया जाता है.

पाकिस्तान के पीएम ने कहा कि अगर हिंदुस्तान कोई जांच कराना चाहता है तो हम जांच करने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा कि हम आतंकवाद पर बात करने को तैयार हैं, हम इसे खत्म करना चाहते हैं. पाकिस्तान को आतंकवाद से काफी नुकसान हुआ है.

इमरान खान ने कहा कि एक नई सोच आनी जरूरी है, कश्मीर के नौजवानों पर से आज मौत का डर ही उतर चुका है. उन्होंने कहा कि अगर आज अफगानिस्तान के अंदर ये तय हो चुका है कि सेना ही हल नहीं है, तो हिंदुस्तान में भी कश्मीर को लेकर बात होनी चाहिए.

बता दें कि पुलवामा हमले को पाकिस्तान में बैठे जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने अंजाम दिया था. भारत ने इस हमले को लेकर पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराया था, जिसके बाद से ही वह बौखला गया है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.