गलवान घाटी में अभी भी बड़ी तादाद में चीनी सैनिक मौजूद, सेटेलाइट इमेज से झूठ पकड़ा

चीनी सेना गलवान घाटी के फिंगर 4 में अभी भी डटी हुई है, 10 जुलाई की लैटेस्ट सैटेलाइट इमेजरी से ये खुलासा हुआ है

इमेज बताती हैं कि खुलासा हुआ है कि फिंगर 4 इलाके में चाइनीज आर्मी ने बहुत कम संख्या में सैनिकों को पीछे हटाया है और काफी तादाद में चीनी सेना अभी भी इस इलाके में डटी है.

इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक. स्काईसैट की सैटेलाइट तस्वीरों से पता चला है कि पैंगोग त्सो इलाके में चीनी सैनिक पीछे हटे हैं. तस्वीरों से पता चला है कि फिंगर 4 इलाके में चीनी सेना ने अभी तक अपने बंकर और कुछ जगह से टेंट नहीं हटाए हैं. बता दें कि ताजा इमेज 10 जुलाई की बतायी जा रही है.

ये भी पढ़ें :  स्मृति ईरानी को दी गई न्यूज़ चैनल पर नियंत्रण की जिम्मेदारी, केजरीवाल से निपटेंगे नरेन्द्र तोमर

सरकार ने बताया था कि लद्दाख के फिंगर 4 और फिंगर 8 इलाकों के साथ ही पैंगोंग त्सो इलाके में चीनी घुसपैठ के बाद भारत और चीन की सेनाएं आमने-सामने आ गई हैं. हालांकि एनएसए अजीत डोवाल और चीन के विदेश मंत्री के बीच हुई बातचीत के बाद से तनाव में कमी आयी है और दोनों सेनाएं 1-2 किलोमीटर पीछे हटी हैं.

ये भी पढ़ें :  राहुल गांधी से इतना डर क्यों भाई, हर बात पर हाय तौबा क्यों ?

सरकारी सूत्रों के अनुसार, दोनों सेनाओं के बीच अगले हफ्ते कोर्प्स कमांडर लेवल की बातचीत हो सकती है. दोनों पक्षों ने विवाद वाली तीन जगहों गलवान घाटी, गोगरा और हॉट स्प्रिंग्स में 3 किलोमीटर का बफर जोन बना लिया है.