अमेजॉन से दो लड़कों ने ठगे करोड़ों के आईफोन, ऐसे किया खेल

ऐमजॉन से ऐपल आईफोन मंगाने के बाद और उसे बदलने के बाद डिलिवरी लेने से इनकार करके करीब 2 करोड़ रुपये की ठगी करने वाले गिरोह के तीन जालसाजों को साइबर क्राइम सेल ने गिरफ्तार किया है. साइबर क्राइम सेल के नोडल अधिकारी के मुताबिक गिरोह के सदस्य ऑर्डर चेक करने के बहाने डिलिवरी मैन से आईफोन लेते थे.

इसके बाद पैकिंग सावधानी से खोलकर आईफोन निकाल लेते थे. उसकी जगह चाय की पत्ती का पैकेट या साबुन रखकर उसी तरह से पैक कर देते थे. बाद में ओटीपी न आने का झांसा देकर डिलिवरी मैन को ऑर्डर वापस कर देते थे. 

कमाल है आरोपियो ने साबुन ओर चायपत्ती से मंहगे एप्पल आई फोन से बदलकर कम्पनी को वापस करने वाले इन आरोपियो ने इतना हुनर सीखा कहा से था कमाल का दिमाग लगाया है कम्पनी से पेसे लूटने का ओ…+

साइबर क्राइम सेल के नोडल प्रभारी अभय कुमार मिश्रा के मुताबिक पकड़े गए आरोपियों के नाम राजस्थान निवासी धारा सिंह, राजकुमार और प्रहलाद है. आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि ऐमजॉन से गिफ्ट कार्ड ऑनलाइन प्राप्त कर लेते थे. इन कार्ड को स्क्रैच करके रुपये ऑनलाइन वॉलेट में मंगवा लेते थे. इसके बाद कार्ड पर वैसा ही टेप लगाकर वापस कर देते थे. वॉलेट में मौजूद रुपये से 91 हजार 900 रुपये की कीमत का ऐपल आईफोन मंगवा लेते थे.

कई प्रदेशों में कर चुके हैं जालसाजी

साइबर क्राइम सेल में तैनात एसआई राहुल राठौर के मुताबिक पकड़े गए आरोपी दिल्ली, जयपुर, यूपी समेत अन्य प्रदेशों में ऐमजॉन के साथ इसी तरह की जालसाजी कर चुके हैं. इन प्रदेशों में 10 से 15 लाख की बुकिंग करके फुर्र हो लेते हैं. आरोपी फर्जी ईमेल और फर्जीवाड़ा करके लिए गए सिम कार्ड का प्रयोग करते थे. आरोपियों का कहना है कि वह धोखाधड़ी करके हासिल किए गए आईफोन को वह बेच देते थे. साइबर क्राइम सेल ने यह कार्रवाई ऐमजॉन के मैनेजर जय सोनी की शिकायत पर की है.

कैसे हासिल किए इतने सिम, जांच कर रही पुलिस

जालसाजों के पास से कई प्री-ऐक्टिवेटेड सिम कार्ड बरामद हुए हैं. इनमें वोडाफोन के 25, आइडिया के 45 और बीएसएनएल के 11 सिम हैं. साइबर क्राइम सेल इस बारे में छानबीन कर रही है कि आरोपियों को इतनी बड़ी संख्या में सिम कार्ड कहां से मिल गए. आरोपियों को पकड़ने में हेड कॉन्स्टेबल फिरोज बदर, अजय, कॉन्स्टेबल अखिलेश, हरि किशोर और अन्य पुलिसकर्मियों की भूमिका अहम रही.

ग्रेजुएशन कर रहे हैं आरोपी

आरोपी प्रहलाद ने बताया कि वह बीए की पढ़ाई कर रहा है. वहीं, राजकुमार बीएससी कर रहा है. धारा सिंह पॉलिटेक्निक से डिप्लोमा कोर्स इन सिविल इंजिनियरिंग कर रहा है. पुलिस ने आरोपियों के पास से 19 मोबाइल फोन, 1,83,800 रुपये के दो ऐपल आईफोन, 3300 रुपये, चाय की पत्ती के दो पैकेट, ऐमजॉन प्रिंट किया हुआ टेप, तीन डबल लेयर सफेद टेप, एक स्क्रैच कार्ड वाला टेप, एक चाकू, सेविंग ब्लेड और एक स्कॉर्पियो बरामद की है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.