दिल्ली दंगों के बाद हिंदुओं से नफरत करने लगे हैं अमेरिकी, ये वाकया हिला देगा

देश की राजधानी दिल्ली में हुए दंगो ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया है. इन दंगो कि वजह से भारत कि छवि को गहरा धक्का लगा है. इससे भी ज्यादा उदार और सहिष्णु समझे जाने वाले हिंदुओं की छवि खराब हुई है. अमेरिका में हिंदुओं को हिंसक और कट्टर लोगों के तौर पर देखा जाने लगा है. हाल ही में एक ऐसा वाकया हुआ जिसने सबको झझकोर दिया. अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव की उम्मीदवार रही तुलसी गैबार्ड ने एक ट्वीट कर अमेरिका में हिंदुओ के साथ हो रहे भेदभाव का जिक्र किया. एक भारतीय महिला को तो बाकायदा सिर्फ हिंदू होने के कारण कैब से उतार दिया गया.

दरअसल दिल्ली दंगो के बाद अमेरिका में रहने वाली एक भारतीय मूल की डॉक्टर और कश्मीरी हिंदू महिला ने दावा किया है कि उसे फेसबुक पर एक पोस्ट मिली जिसमे दावा किया था कि उसके साथ उबर की टैक्सी में बहुत बुरा बर्ताव हुआ है.

महिला का दावा है कि विदेश में हिंदुओ के खिलाफ बन रहे माहौल का ये नतीजा है कि अब अमेरिका में हिंदुओ को गलत नजर से देखा जाने लगा है. उसने इसकी शिकायत उबर से भी की हैं

क्या था पोस्ट में ?

महिला द्वारा शेयर किए गए स्क्रीनशॉट में दावा किया था जिसमे कैब चालक पर आरोप लगाया गया की उसने हिंदू होने की वजह से मेरे साथ बदतमीजी की और उसने कहा तुम हिंदू भारत में मुसलमानों को मार रहे हो और उनकी मस्जिद तोड़ रहें हो. हालाकि मैने उसे समझाने की कोशिश की लेकिन ड्राइवर ज्यादा गुस्सा हो गया और मुझे और मेरी बहन को कार से नीचे उतार दिया. जब ड्राइवर को पुलिस को बुलाने कि धमकी दी गई तब जाकर शांत हुआ महिला का दावा है कि दिल्ली दंगो की मीडिया कवरेज कि वजह से हिंदुओ को बुरे बर्ताव का सामना करना पड़ेगा.

इसी ट्वीट को रीट्वीट करते हुए तुलसी गैबार्ड ने कहा कि यह सच है अमेरिका में हिंदुओ की खिलाफ नफरत बढ़ती जा रही है. मुझे भी एक नेता होने पर विपक्षी पार्टी और मीडिया द्वारा ऐसे बर्ताव का सामना करना पड़ा है.

वहीं लोगो ने तुलसी के ट्वीट की प्रतिक्रिया देते हुए उन्हे ट्रोल करना शुरू कर दिया और उन्हें कर्म भुगतने का कहा लोगो ने उन्हें दिल्ली दंगो में मरने वाले मुस्लिमो और मस्जिदों को हुए नुकसान कि भी याद दिलाई.

एक यूजर ने लिखा यह सच है हिंदुओ से नफरत बढ़ती जा रही है और हिंदुओ को अब इसका सामना करना पड़ेगा, उनको हिंदू होने पर शर्मिंदा होना पड़ेगा,वह भी सिर्फ हिन्दू गुंडों कि वजह से जिन्होंने मुसलमानों को मारा, मस्जिदे ध्वस्त की और पवित्र किताबो को नुकसान पहुंचाया और इसका नतीजा सच्चे हिंदुओ को भुगतना होगा.

आपको बता दे दिल्ली दंगो के अब तक मरने वालो का आंकड़ा 53 हो गया है और आप विधायक अमानत उल्लाह खान ने दावा किया है इस दौरान 19 मस्जिदों को नुकसान पहुंचा गया है. अमानतुल्ला खान ने ये भी ट्वीट किया है कि आप पार्षद ताहिर हुसैन को मुसलमानों के कारण दंगे में फंसाया गया है.